युवा उद्यमी से सीएम ने किया संवाद, जानी उद्योग धंधे की हकीकत

जिले में २१ करोड़ रुपए की लागत से तैयार उद्योगों का सीएम ने किया शुभारंभ

By: Bhaneshwar sakure

Published: 08 Apr 2021, 09:13 PM IST

बालाघाट. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज भोपाल से वर्चुअल कार्यक्रम के माध्यम से प्रदेश के 4564 करोड़ रुपए की लागत के 1891 नवीन सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों का शुभारंभ किया। इसमें बालाघाट जिले के 21 करोड़ रुपए की लागत के तीन लघु व मध्यम उद्यम शामिल है।
बालाघाट में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में विधायक गौरीशंकर बिसेन, कलेक्टर दीपक आर्य, अपर कलेक्टर फ्रेंक नोबल ए, बालाघाट चेंबर्स ऑफ कामर्स के अध्यक्ष अभय सेठिया, जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक अखिल चौरसिया, जिला रोजगार अधिकारी अशोक कुमार मेश्राम व जिले के उद्यमी उपस्थित थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में विधायक बिसेन ने कन्यापूजन किया।
सूक्ष्मए लघु एवं मध्यम उद्यम उद्योगों के शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेश के लघु उद्यमियों से संवाद किया। इस दौरान उन्होंने बालाघाट जिले के ग्राम जैरामटोला मंगेझरी के लाख की प्रोसेसिंग कर विक्रय करने वाले युवा उद्यमी महेन्द्र पारधी से उनके व्यवसाय के बारे में जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने महेन्द्र से पूछा कि वे लाख की प्रोसेसिंग के लिए कच्चा माल अर्थात लाख कहां से प्राप्त करते हैं और प्रोसेसिंग के बाद लाख का विक्रय कहां करते है। इस पर महेन्द्र ने बताया कि कच्ची लाख बालाघाट जिले के जंगलों से ही उपलब्ध हो जाती है। लाख की प्रोसेसिंग के बाद उसका निर्यात फ्रांस, पाकिस्तान व अन्य देशों को किया जा रहा है। मुख्यमंत्री चौहान इस बात से बहुत प्रभावित हुए कि बालाघाट जिले की लाख प्रोसेस होने के बाद फ्रांस जैसे देश को भी निर्यात की जा रही है। उन्होंने महेन्द्र की लगन व उसके व्यवसाय को सराहना की और अपने इस व्यवसाय को आगे बढ़ाने के लिए शुभकामनाएं दी।
विधायक गौरीशंकर बिसेन ने कहा कि कोविड-19 ने हमारे उद्यम, व्यवसाय को बहुत सीमित कर दिया है। लेकिन हमें कोरोना पर नियंत्रण करने के साथ ही देश एवं प्रदेश की अर्थव्यवस्था को भी आगे बढ़ाना है। आज का दिन जिले के लिए सौभाग्य का दिन है। आज जिले में 21 करोड़ रुपए की लागत के तीन उद्यमों का शुभारंभ हो रहा है। बालाघाट जिले में वन संपदा के साथ ही खनिज संपदा भी प्रचुर मात्रा में उपलब्ध है। कोचेवाही में मैंगनीज आधारित उद्योग लगने से जिले के युवाओं को रोजगार मिलेगा जिले में उपलब्ध कच्चे माल पर आधारित उद्यमों के प्रारंभ होने से बालाघाट जिला उद्योगों के मामले में भी अग्रणी बनेगा।
8 अप्रैल को जिले में जिन तीन लघु उद्यमों का शुभारंभ किया गया है उसमें प्रो. अजय रामचंदानी की 15 करोड़ रुपए के लागत की शुभम राइस मिल ग्राम मेहंदीवाड़ा, प्रो. देवेन्द्र त्रिवेदी की 2 करोड़ रुपए की लागत से ग्राम कोचेवाही में बना मेव जेके मिनरल्स मैग्नीज ऑक्साइड प्लांट, महिला उद्यमी प्रो. संगीता अग्रवाल की 4 करोड़ रुपए की इकाई मे गोपाल एग्रोटेक लिंगा बालाघाट शामिल है।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned