36 मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजीटिव तो 12 को किया डिस्जार्च

जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या हुई 70

By: Bhaneshwar sakure

Published: 04 Sep 2020, 10:21 PM IST

बालाघाट. जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ते ही जा रही है। कोरोना संक्रमण पर रोक नहीं लग पा रहा है। जिले में एक बार फिर से ३६ नए कोरोना संक्रमित मरीज मिले हैं। इतनी संख्या में पहली बार मरीजों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है। वहीं स्वस्थ्य होने पर १२ मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज भी कर दिया गया है।
जानकारी के अनुसार 3 सितम्बर को देर रात में आइसीएमआर लैब जबलपुर और जिला चिकित्सालय बालाघाट की ट्रू-नाट लैब से प्राप्त रिपोर्ट में जिले के 36 मरीजों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इन सभी मरीजों को उपचार के लिए आइटीआइ के पीछे बूढ़ी बालाघाट में बनाए गए कोविड अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मनोज पांडेय से प्राप्त जानकारी के अनुसार 3 सितम्बर को देर रात्रि में प्राप्त कोरोना पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट के अनुसार 3 मरीज लालबर्रा के हैं, एक मरीज लांजी का है और एक मरीज लांजी तहसील के ग्राम बोरी का है। 2 मरीज वारासिवनी तहसील के ग्राम डोके के, एक मरीज बालाघाट तहसील के ग्राम घुनाड़ी, एक मरीज ग्राम लिंगा और एक मरीज भटेरा चौकी बालाघाट का है। 13 मरीज वारासिवनी के वार्ड नंबर 9 के हैं, एक मरीज वारासिवनी तहसील के ग्राम बुदबुदा का, एक मरीज ग्राम सिकंदरा का है। 2 मरीज वार्ड नंबर 6 बैहर, एक मरीज वार्ड नंबर 4 बैहर, 6 मरीज वार्ड नंबर 1 बैहर और 2 मरीज बिरसा तहसील के ग्राम हर्राभाट मंडई के हैं। इस प्रकार 3 सितम्बर को कोरोना पॉजिटिव पाए गए मरीजों में 17 मरीज वारासिवनी तहसील के, 9 मरीज बैहर तहसील के, 2 मरीज लांजी तहसील के, 3 मरीज लालबर्रा तहसील के, 3 मरीज बालाघाट तहसील के और दो मरीज बिरसा तहसील के हैं। डॉक्टर पांडेय ने बताया कि शासन के प्रोटोकॉल के अनुसार 12 मरीजों के ठीक हो जाने पर उन्हें 3 सितम्बर को डिस्चार्ज कर दिया गया है। इस प्रकार बालाघाट जिले में अब तक 337 मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। इनमें से 262 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं। 4 मरीजों को उपचार के लिए मेडिकल कॉलेज छिंदवाड़ा रेफर किया गया है। 70 मरीजों का उपचार कोविड अस्पताल बूढ़ी बालाघाट में किया जा रहा है और दो मरीज की मृत्यु हो चुकी है। जिसमें एक मरीज कटंगी और दूसरा बालाघाट मुख्यालय का शामिल है। हालांकि, बालाघाट नगर निवासी कोरोना पॉजिटिव युवती को उसके परिजनों द्वारा गोंदिया के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां पर उसकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। जिसके चलते वहां के डॉक्टरों ने उसे नागपुर रेफर कर दिया था। लेकिन परिजनों ने उसे अपने घर लेकर आ गए थे। बीते दिवस उसकी तबीयत खराब होने पर उसे जिला चिकित्सालय में भर्ती किया गया था। लेकिन अस्पताल में उपचार के पूर्व ही उसकी मौत हो गई। जब तक डॉक्टर युवती के उपचार की पर्चियां देखते उसके पूर्व ही उसने दम तोड़ दिया था। हालांकि, रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव होने के कारण परिजनों द्वारा उसका अंतिम संस्कार नहीं किया गया।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned