नवाचार के माध्यम से दे रहे नौनिहालों को शिक्षा

नवाचार के माध्यम से दे रहे नौनिहालों को शिक्षा
नवाचार के माध्यम से दे रहे नौनिहालों को शिक्षा

Mukesh Yadav | Updated: 23 Sep 2019, 06:27:24 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

कटंगी की शासकीय प्राथमिक शाला उजाड़़बोपली में शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अनुरूप शिक्षकों ने पठन-पाठन में नवाचार की तकनीक अपनाई है।

कटंगी। विकासखंड कटंगी की शासकीय प्राथमिक शाला उजाड़़बोपली में शिक्षा का अधिकार अधिनियम के अनुरूप शिक्षकों ने पठन-पाठन में नवाचार की तकनीक अपनाई है। जिससे नौनिहालों की पढ़ाई के प्रति रूचि बदल गई है। शिक्षकों ने बच्चों को पढ़ाई से जोडऩे के लिए कई तरह के प्रयास किए हैं। जिसमें चित्रकारी, खेलकूद, प्रश्नोत्तरी एवं अन्य प्रयास शामिल है। इन आयोजनों के माध्यम से बच्चे मनोरंजन के साथ-साथ पढ़ाई एवं हर दिन कुछ नया सीख रहे हैं। इस नवाचार का नतीजा यह हो रहा है कि जो बच्चे रोते हुए स्कूल नहीं जाते थे, वह अब खुशी खुशी स्कूल आने लगे हैं। शैक्षिक नवाचार और टीचिंग लर्निंग मटेरियल (टीएलएम) के माध्यम से बच्चों को शिक्षा का प्रयास काफी रंग ला रहा है।
जनशिक्षक रूपसिंह पटले, शैलेन्द्र शर्मा के मार्गदर्शन पर प्रधानपाठिका अनुसुईया चिचखेड़़े, विद्या उके, शिक्षक प्रमोदसिंह गौतम ने बताया कि हमें अपनी शाला में शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए शासन द्वारा हमें समय-समय अन्य मार्गदर्शिका प्राप्त हुई है। इसी आधार पर टीचिंग लर्निंग मटेरियल की सहायता से कार्य किया। सर्वप्रथम प्रार्थना स्थल पर राष्ट्रगान के बाद वंदना, योग, गतिविधि (पहाड़े का अभ्यास) सरल विधि से अक्षर और शब्द ज्ञान कराया जाता है। गतिविधियों के द्वारा रोचक खेल एवं आकर्षक शिक्षण कार्य किया जाता है। उन्होंने कहा कि सहायक सामग्री के प्रयोग से शिक्षण रुचिकर होता है, जिससे नौनिहालों को शिक्षा ग्रहण करने और शिक्षकों को शिक्षण कार्य करने में सहजता महसूस होती है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned