रोड नहीं बनी तो चुनाव बहिष्कार, आंदोलन की चेतावनी

6 गांव को जोडऩे वाली सड़क हुई जर्जर, भारी वाहन के गुजरने से रहती है दुर्घटना की संभावना

बालाघाट/हट्टा. रोड नहीं बनी तो अब पंचायत चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा। ग्रामीणों के साथ उग्र आंदोलन किया जाएगा। इधर, मार्ग से लगातार भारी व हल्के वाहन गुजरने के कारण दुर्घटना की संभावना बनी रहती है। मामला हट्टा क्षेत्र के मोहगांव खुर्द-कुंडा पहुंच मार्ग का है। ये मार्ग 6 गांव को जोड़ता है। प्रधान मंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत इसका पूर्व में निर्माण कराया गया था। अब इस सड़क के न केवल धुर्रे उड़ गए हैं। बल्कि मार्ग पूरी तरह से जर्जर हो गया है। जिसके कारण राहगीरों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
इधर, ग्रामीणों की समस्याओं को जानने के लिए पूर्व सांसद कंकर मुंजारे ने भी जर्जर सड़क का निरीक्षण किया। ग्रामीणों की समस्याओं को सुना और सड़क निर्माण के लिए ग्रामीणों का हर संभव साथ दिए जाने आसवासन दिया। वहीं ग्रामीणों ने एक आमसभा काभी आयोजन किया। सभा को संबोधित करते हुए पूर्व सांसद मुंजारे ने कहा कि यह रोड काफी जर्जर हो चुकी है। रोड पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील हो गई है। लेकिन फिर भी प्रशासन गहरी नींद में सोया हुआ है। उन्होंने कहा कि पूर्व सरकार ने रोड तो बनाई। लेकिन ठेकेदार और इंजीनियर की मिली भगत से रोड निर्माण के नाम पर जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। जिसकी बानगी अभी देखने को मिल रही है। उन्होंने कहा कि रोड का निर्माण नहीं होता है तो ग्रामीणों के साथ उग्र आंदोलन किया जाएगा।
ग्रामीणों ने बताया कि लांजी विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत किरनापुर जनपद के ग्राम कुंडा मोहगांव बाजार चौक से कुंडा तक पहुंच मार्ग करीब 4 किमी पूरी तरह से उखड़ गया है। करीब चार किमी सड़क का निर्माण कार्य 8 वर्ष पूर्व करोड़ों रुपए की लागत से किया गया था। लेकिन यह सड़क बनने के महज दो वर्ष बाद ही उखडऩे लगी। जिसके कारण ग्रामीणों को आवागमन में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जबकि इस मार्ग से रोजाना ६ गांव के स्कूली विद्यार्थियों के साथ-साथ ग्रामीणों का रोजाना आवागमन होता है। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि इस मार्ग से वन विभाग के अनेक ट्रक बांस व लकड़ी से लोड होकर गुजरते हैं, जिसकी वजह से भी सड़क और जर्जर हो चुकी है। इस मार्ग से रोजाना कुंडा, कटंगटोला, मोहगांव, निमदेवाड़ा, नेवरगांव सहित अन्य गांवों के ग्रामीण व छात्र-छात्राएं आवागमन करते हैं।
ग्राम के युवा संदीप लिल्हारे, बंटी ढेकवार, रामकिशोर लिल्हारे, गेंदलाल लिल्हारे, रमेश लिल्हारे, राजेश लिल्हारे, ओमकार बसेने, आबिद खान, बाबा खान, मोहशीन खान, रामलाल ढेकवार, उमेद लिल्हारे, गुलाब माहुले, भोजलाल लिल्हारे सहित अन्य ग्रामीणों ने मार्ग का शीघ्र निर्माण नहीं होने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। ग्रामीणों का कहना है कि शीघ्र ही मार्ग नहीं बनाया गया तो पंचायत चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।

Bhaneshwar sakure Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned