लाखों के शौचालयों हो गए बेकार

लाखों के शौचालयों हो गए बेकार

Mukesh Yadav | Updated: 12 Jun 2019, 06:10:02 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

नगर परिषद नहीं कर पाई देखभाल, रख-रखाव का अभाव

कटंगी। शहर की मलिन बस्तियों एवं जिन वार्डो में घर-घर शौचालयों का निर्माण नहीं हो पाया था इसके लिए नगर परिषद ने लाखों रुपए की लागत से अस्थाई शौचालयों की खरीददारी की थी। यह शौचालय अब देख-रेख के अभाव में बेकार हो रहे है। नगर परिषद ने इन शौचालयों को जिस स्थान पर रखवाया था, वहां इनकी नियमित साफ-सफाई नहीं होने की वजह से इन शौचालयों की स्थिती काफी बुरी हो चुकी है। इन शौचालयों में नियमित सफाई नहीं होने तथा पानी के अभाव में गंदगी दिखाई देने लगी। जिसके चलते लोगों ने इन शौचालयों का उपयोग करना बंद कर दिया।
गौरतलब हो कि नगर के अलग-अलग हिस्सों में करीब आधा दर्जन अस्थाई शौचालय रखे गए थे। लेकिन इन शौचालयों की नियमित साफ-सफाई नहीं की जा रही थी। नगर परिषद ने अलग-अलग सिानों पर इन शौचालयों को रखा था। जिसमें से अधिकांश की स्थिती काफी बदत्तर हो चुकी है। बता दें कि आज भी शहर की कई मलिन बस्तियों में लोगों के घरों में शौचालयों का निर्माण नहीं हो पाया है। इस कारण इन बस्तियों के लोग खुले में शौच को जाने के लिए मजबूर है। ऐसे में सबसे ज्यादा दिक्कत महिलाओं को झेलनी पड़ती है। मालूम हो कि जिन घरों में अब तक शौचालय नहीं बन पाए है। उन घरों की महिलाएं सुबह 5 बजे से पहले उठकर दैनिक क्रिया के लिए घर से बाहर खुले में जाने को मजबूर है। महिलाओं की दिक्कत का अंदाजा इस बात से भी लगाया जा सकता है कि उन्हें दैनिक क्रिया के लिए शाम ढलने का इंतजार करना पड़ता है। जागरूक नागरिकों की मांग है कि सभी घरों में शौचालयों का निर्माण कराया जाए तथा लाखों रुपए की लागत से खरीदी गए अस्थाई शौचालयों की नियमित साफ-सफाई की जाए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned