अगर आपके पैरों के नाखून भी एेसे हैं तो आपको हो सकती है जानलेवा बीमारी

अगर आपके पैरों के नाखून भी एेसे हैं तो आपको हो सकती है जानलेवा बीमारी

Faiz Mubarak | Publish: Nov, 10 2018 05:11:17 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 05:11:18 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

अगर आपके पैरों के नाखून भी एेसे हैं तो आपको हो सकती है जानलेवा बीमारी

बालाघाटः हमारे शरीर का हर अंग हमारे जीवन यापन के लिए बेहद महत्वपूर्ण होते हैं। हर अंग का अपना महत्व होता है। ऐसे में शरीर के किसी भी अंग में कोई समस्या होने पर व्यक्ति को इसका संकेत मिल जाता है। शरीर के वो हिस्से जो आने वाली बीमारी का संकेत देते हैं उनमें से एक हमारे पैर भी होते हैं। अमेरिका के प्रसिद्ध चिकित्सकों में शुमार डॉक्टर डॉन हार्पर की इंसानी शरीर से मिलने वाले संकेतों से बीमारी का पता लगाने वाली किताब पर रिसर्च करने वाले बालाघाट के एक निजी अस्पताल के चिकित्सक, डॉ.लोकेन्द्र मिश्रा ने बताया कि, किस तरह से पैर हमारे शरीर की बीमारियों की जानकारी देते हैं। किताब का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि, डॉक्टर डॉन हार्पर की किताब पर रिसर्च करके मेने पाया कि, 90 प्रतिशत महिलाओं को अपनी पूरी जिंदगी में पैर से संबंधित कोई न कोई समस्या जरूर रहती है। पैरों में अगर कोशिकाएं ज्यादा दिखने लगें तो भी डॉक्टर से संपर्क करके एक बार अपनी जांच जरूर करवा लीजिए। हो सकता है कि ये आसानी से गहरे रंग के लोगों को न दिखे, लेकिन अगर ऐसा है तो पैरों के तापमान को देखें। ब्लड सर्कुलेशन की कोई समस्या तो नहीं इसे चेक करने के लिए अपने पैर के अंगूठे को बहुत जोर से दबाएं। वहां प्रेशर बदलने के कारण रंग बदलेगा और जैसे ही आप अपने अंगूठे को छोड़ेंगे तो जल्दी ही रंग सामान्य हो जाएगा। अगर इसे देर लगती है तो ये मान लीजिए कि बल्ड सर्कुलेशन से जुड़ी कोई समस्या हो रही है। अगर समस्या बहुत ज्यादा बढ़ गई है तो ब्लड सर्कुलेशन की कमी गैंगरीन तक भी बढ़ सकती है इसलिए समय रहते इसे चेक करवा लीजिए। इसके अलावा, कोलेस्ट्रॉल और ग्लूकोज लेवल भी इस समस्या का कारण हो सकता है।

शरीर की कमियों को पूरा करना ज़रूरी

शरीर में तरल पदार्थों की कमी होने के कारण मसल्स ज्यादा आसानी से खराब होने लगते हैं और शरीर में ऐंठन होने लगती है। आमतौर पर पैरों की ऐंठन मसाज करने से, स्ट्रेचिंग आदि से चली जाती है, लेकिन अगर ये खराब ब्लड सर्कुलेशन या शरीर में किसी जरूरी लिक्विड की कमी से हो रहा है तो ये समस्या बढ़ी हुई है और उस समय शरीर की कमी को पूरा करना जरूरी हो जाएगा। इसके अलावा नेलपॉलिश के ज्यादा इस्तेमाल से भी नाखून पीले हो जाते हैं। लेकिन अगर नाखूनों में परत बन रही है, रंग ज्यादा गहरा हो रहा है तो किसी तरह से फंगल इन्फेक्शन की समस्या भी हो सकती है। इसकी जांच करवाना ज्यादा जरूरी है। अगर नाखून में कोई खराबी दिख रही है या उसका रंग बाकी नाखूनों से अलग है, अगर दर्द हो रहा है, या नाखून मोटे हो गए हैं तो ये समस्या बड़ी भी हो सकती है। हो सकता है कि किसी तरह की स्किन की बीमारी हो गई हो या फिर कैंसर जैसी बड़ी बीमारी का संकेत भी मिल सकता है। लंग कैंसर का एक लक्षण ये भी है कि नाखून आगे से मुड़ने लगते हैं, या मोटे होने लगते हैं, या फिर उनका रंग बदल जाता है।

इस वजह से होता है हाइपरकेराटॉसिस

कुछ लोगों के पैरों की स्किन लगातार फटती रहती है, ऐड़ियों से खून भी रिसता रहता है और किसी तरह की कोई दवा इनपर असर नहीं करती। ये समस्या है हाइपरकेराटॉसिस (hyperkeratosis)। यह समस्या आमतौर पर लोगों को बढ़ती उम्र में होती है। इसके अलावा अगर पैरों से बदबू आती हो तो यह एक तरह के इन्फेक्शन का कारण होता है, इससे आपको कोई बड़ी समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है। इसके अलावा, पैरों में खुजली, पैरों में सुइयों जैसी चुभन होना, छाले होना, उंगलियों के बीच में सूजन और सूखापन होना आदि ये सब समस्या है। पैरों का इन्फेक्शन कई बार खतरनाक हो सकता है। इसे बिल्कुल भी नज़अंदाज ना करें, तुरंत अच्छे चिकित्सक से इसपर सलाह लें।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned