script ग्रामीणों ने निकाली आक्रोश, चेतावनी रैली, सौंपा ज्ञापन | Villagers expressed anger, warning rally, submitted memorandum | Patrika News

ग्रामीणों ने निकाली आक्रोश, चेतावनी रैली, सौंपा ज्ञापन

locationबालाघाटPublished: Dec 12, 2023 10:44:45 pm

Submitted by:

Bhaneshwar sakure

अवंती बाई की प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने का मामला
अवंती बाई लोधी महासभा व ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

12_balaghat_102.jpg

बालाघाट. हट्टा थाना क्षेत्र क्षेत्र के ग्राम पंचायत परसवाड़ा अंतर्गत ग्राम रतनारा में अवंती बाई की प्रतिमा को 25-26 नवंबर की दरमियान रात्रि असामाजिक तत्वों ने प्रतिमा को क्षतिग्रस्त कर दिया। घटना को 15 दिन बीत जाने के बाद भी इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। जिसके चलते सामाजिक बंधुओं में आक्रोश है। मंगलवार को अवंती बाई लोधी महासभा के बैनर तले लोधी समाज और अन्य समाज के लोगों ने बालाघाट मुख्यालय में आक्रोश व चेतावनी रैली निकाली। कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक को ज्ञापन सौंपकर अपनी मांग रखी। यह आक्रोश रैली दानवीर रामबापू मोती तालाब गार्डन से प्रारंभ हुई। जो आम्बेडकर चौक, काली पुतली चौक, अवंती चौक, जयस्तंभ चौक होते हुए एसपी कार्यालय पहुंची। जहां एएसपी विजय डाबर को ज्ञापन सौंपा गया। इसी तरह कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर कलेक्टर डॉ गिरीश मिश्रा को ज्ञापन सौंपा गया।
संघ पदाधिकारियों ने बताया कि घटना के एक पखवाड़े बाद भी आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जिसके कारण समाज के लोगों में काफी आक्रोश है। इसके अलावा अमर शहीद वीरांगना रानी अवंती बाई की कर्म स्थली डिंडोरी जिले के रामगढ़ किले में पिछले 35 वर्षों से यहां रखी प्रतिमा का अनावरण नहीं होने के कारण भी देश व प्रदेश के समाज के लोग आक्रोशित है। जिसको लेकर लोधी समाज का मानना है कि 35 वर्षों से स्वतंत्रता संग्राम की महानायिका के किले में ही अनावरण न करके उनका अपमान किया गया है। ज्ञापन के माध्यम से इस प्रतिमा का ससम्मान अनावरण करने और अवंती बाई के जीर्ण शीर्ण किले को संरक्षित कर सुध लेने की मांग रखी गई है। प्रतिमा को क्षतिग्रस्त करने वाले आरोपी को जल्द गिरफ्तार नहीं करने और रामगढ़ में अवंती बाई की प्रतिमा का अनावरण न होने पर पर संघ पदाधिकारियों ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।
इस अवसर पर प्रदेश अध्यक्ष अवंती लोधी महासभा शेरा सुलखिया, जिलाध्यक्ष सैजलाल उपवंशी, फागुलाल मोहारे, महेश मोहारे, डॉ महेंद्र लोधी, फुलवंता बाई मोहारे, यशवंत लिल्हारे, बोदा सरपंच सुरेन्द्र लिल्हारे, पीतम लिल्हारे, दीनदयाल नगपुरे, सुकुन्द पटेल, आत्माराम सौलखे, ओमप्रकाश लिल्हारे, सुखदेव मुनि कुतराहे, हरीश लिल्हारे, पार्षद योगराज कारो लिल्हारे सहित अन्य मौजूद थे।

ट्रेंडिंग वीडियो