वन्यप्राणी फसलों को कर रहे बर्बाद

वन्यप्राणी फसलों को कर रहे बर्बाद
वन्यप्राणी फसलों को कर रहे बर्बाद

Mukesh Yadav | Updated: 11 Oct 2019, 09:01:09 PM (IST) Balaghat, Balaghat, Madhya Pradesh, India

किसानों ने राजस्व तथा वन विभाग से की मुआवजा की मांग-

जराहमोहगांव/कटंगी। खेतों में लगी धान की फसल को वन्यप्राणी बर्बाद कर रहे हैं। हिरण तथा जंगली सुकर के झुंड खेतों में घुसकर खड़़़ी फसलों को नुकसान पहुंचा रहे हैं। जिससे किसान चिंतिंत तथा परेशान है। अपनी यह व्यथा मुख्यालय से 15 किमी. दूर जराहमोहगांव के किसानों ने सुनाई है। इस गांव के किसानों ने तहसीलदार एवं वन विभाग को ज्ञापन सौंपकर फसल बर्बाद के एवज में मुआवजे की भी मांग की है।
जराहमोहगांव के कृषक नीलमचंद पंजरे, शिवरत्न खरे, बुधराम जमरे, रोशनलाल खरे, मानकराम जमरे, हरिकिशन जमरे, सेवकराम जमरे, डॉ दौलतसिंह सिंगनदुपे, डिलीचंद पंचेश्वर, मोतीराम खरे ने बताया कि उनकी कृषि भूमि खडगपुर के ग्राम सीमा के प.ह.न. 6 में स्थित है। जहां वन्यप्राणी फसलों को क्षति पहुंचा रहे हैं। किसानों ने बताया कि इस समय क्षेत्र में हिरण तथा जंगली सुकर के झुंड मौजूद है। इससे सीमांत किसान अपनी धान की फसलों को बचाने के लिए समय समय पर कई जतन करते हैं। अभी फसल पक कर तैयार हो रही है। किसानों को पूरी रात वन्यप्राणियों को भगाने के लिए खेतों के आसपास घूमते फिरते बिताना पड़ती है। किसानों ने बताया हिरण इतनी सजग व चतुर होते है कि जरा सी आहट मिलते ही तुरंत भाग खड़े होते हैं। यह झुंड में चारों दिशाओं में मुंह करके बैठती है। कहीं से भी खतरे का संकेत मिलने पर दौड़ लगा देती है।
इस संबंध में किसानों के द्वारा संबंधित विभाग तहसीलदार पटवारी राजस्व विभाग एवं वन परिक्षेत्र अधिकारी को अवगत कराया है। किसानों ने क्षतिग्रस्त फसलों का निरीक्षण कर तत्काल उचित मुआवजा प्रदान कराने की मांग की है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned