बलिया के मणि मंजरी राय सुसाइड केस में फरार मुख्य आरोपी ने कोर्ट में किया सरेंडर, पुलिस को भी नहीं लगी भनक

- आरोपी खिलाफ गैर जमानती वारंट के साथ मुनादी भी करा चुकी थी पुलिस
- पुलिस इस केस में अभी तक आरोपी ड्राइवर और कम्प्यूटर ऑपरेटर को ही गिरफ्तार कर सकी

By: Neeraj Patel

Published: 28 Oct 2020, 09:10 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
बलिया. जिले में चर्चित मनियर ईओ मणि मंजरी राय सुसाइड केस के मुख्य आरोपी भीम गुप्ता ने बुधवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। वह कई महीनों से फरार चल रहा थे, पुलिस उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट के साथ मुनादी भी करा चुकी थी। बुधवार को मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता ने बलिया सीजेएम कोर्ट में आत्मसमर्पण किया। जहां से सीजेएम कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। पिछले 6 जुलाई को मनियर ईओ मणि मंजरी राय का शव उनके आवास पर संदिग्ध हालत में पाया गया था। जिसके बाद परिजनों ने मनियर नगर पंचायत अध्यक्ष भीम गुप्ता, पूर्व मनियर ईओ संजय राव, विभाग के कम्प्यूटर ऑपरेटर, ड्राइवर और एक ठेकेदार के खिलाफ नामजद केस दर्ज कराया था।

परिजनों ने इन सभी के खिलाफ मंजरी राय पर फर्जी पेमेंट का दबाव बनाने का आरोप लगाया था। पुलिस को इस संबंध में मंजरी राय का सुसाइड नोट भी बरामद हुआ था, जिसमें उन्होंने अपनी पीड़ा बयान की थी। इस घटना के बाद बलिया में हड़कंप मच गया था। मामले में बलिया शहर कोतवाली में केस दर्ज होने के बाद भी पुलिस इस केस में अभी तक महज आरोपी ड्राइवर और कम्प्यूटर ऑपरेटर को गिरफ्तार कर सकी थी।

इस मामले में मुख्यारोपी भीम गुप्ता लगातार फरार चल रहा था। पुलिस उसकी तलाश ही नहीं कर पा रही थी। कोर्ट से भीम गुप्ता के खिलाफ एनबीडब्लू भी जारी हो चुका था, जिसकी मुनादी भी कराई जा चुकी थी। इसी बीच बुधवार को ईओ मंजरी राय सुसाइड केस के मुख्यारोपी भीम गुप्ता ने नलिया सीजेएम कोर्ट में सरेंडर कर दिया और पुलिस को भनक तक नहीं लग सकी।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned