कानूनी दावं-पेंच में फंसी 11 साल की दुष्कर्म पीड़िता की जान, 6 महीने से गर्भवती बच्ची को है गर्भपात के आदेश का इंतजार

अब बच्ची लगभग 6 महीने से गर्भवती है। कम उम्र होने के कारण उसका गर्भवती होना जानलेवा साबित हो सकता है लेकिन उसके गर्भपात में क़ानूनी पेंच सामने आ गए हैं।

By: Karunakant Chaubey

Updated: 18 Mar 2020, 05:14 PM IST

बालोद. छत्तीसगढ़ के बालोद जिले में एक 11 साल की दुष्कर्म पीड़िता की जान क़ानूनी दावं-पेंच में फंसी हुई है। उसके साथ उसके एक रिश्तेदार ने 20 फ़रवरी को दुष्कर्म किया था। घटना सामने आने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

मां तेरी छोटी सी नादानी समाज की आंख में कांटा क्या बनी, तूने तो मुझे गन्दी नाली में फेंक दिया

अब बच्ची लगभग 6 महीने से गर्भवती है। कम उम्र होने के कारण उसका गर्भवती होना जानलेवा साबित हो सकता है लेकिन उसके गर्भपात में क़ानूनी पेंच सामने आ गए हैं। दरअसल सीएमएचओ का कहना है कि बच्ची को गर्भपात करवाने का आदेश देना हमारे अधिकार क्षेत्र में नहीं है।

गर्भपात का आदेश हाईकोर्ट ही दे सकता है। बच्ची के पिता ने हाईकोर्ट से अनुमति मांगी है लेकिन हाईकोर्ट ने पुलिस से मामले की पूरी रिपोर्ट मांगी है। रिपोर्ट पढ़ने के बाद ही कोर्ट ने आदेश देने की बात कही है। बच्ची को मेकाहारा रायपुर में भर्ती करवाया गया है।

ये भी पढ़ें: नाबालिग प्रेम कहानी की दर्दनाक मौत, प्रेमी ने प्रेमिका से स्कार्फ लाने को कहा और दोनों ने साथ में लगा ली फांसी

Karunakant Chaubey Desk/Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned