किसानों ने अवैध खनन के खिलाफ ऐसे किया धरना प्रदर्शन, खनन माफियाओं में मचा हड़कम्प

किसानों ने अवैध खनन के खिलाफ ऐसे किया धरना प्रदर्शन, खनन माफियाओं में मचा हड़कम्प

Neeraj Patel | Publish: May, 20 2019 09:20:16 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

पानी की किल्लत को लेकर मतदान में बहिस्कार के बाद से लगातार जनपद वासी पानी के लिए रोड जाम कर रहे हैं।

बांदा. जिले में लोगों में पानी की किल्लत के चलते हाहाकार मचा हुआ है। जनपद में अवैध खनन का बोलबाला है। पानी की किल्लत को लेकर मतदान में बहिस्कार के बाद से लगातार जनपद वासी पानी के लिए रोड जाम कर रहे हैं। अवैध खनन को जिम्मेदार बताते हुए किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष किसानों के साथ अशोक लाट तिराहे में बैठे हुए थे व पूर्व घोषणा के अनुसार आज सैकड़ों किसानों ने कलेक्ट्रेट कम प्रदर्सन किया व इसके बाद पैदल यात्रा कर केन नदी पहुंचकर कर नदी की जलधारा में जालर जल सत्याग्रह आंदोलन किया।

आपको बता दें कि बांदा जनपद में दो दर्जन मोरंग खदान संचालित है जहां रात-दिन नदी का सीना छन्नी कर मोरम निकाली जा रही है। जनपद में पानी के लिए त्राहि-२ मची हुई है, लोगों को पानी नहीं मिल पा रहा है। इसी समस्या को लेकर बीते दिनों बांदा डीएम ने नदी किनारे बने पम्प कैनलों का निरीक्षण किया था व मशीनों की मरम्मत को शासन को लिखा था जिसपर प्रमुख सचिव ने बांदा आकर धनराशि उपलब्ध कराइ थी।

निरीक्षण के दौरान बांदा डीएम ने नदी किनारे सब्जी उगाने वालो पर जलधारा काटने का आरोप लगाया था व नदी की सफाई कराकर जलधारा को सही रास्ता दिखाया था। जनपद में पानी की किल्लत को लेकर किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल शर्मा ने अवैध खनन को जिम्मेदार बताया था व इसपर रोकथाम के लिए शहर के अशोक लाट तिराहे पर एक हफ्ते पर अनशन पर बैठे थे व मांग न पूरी होने पर जल सत्याग्रह आंदोलन की चेतावनी प्रशासन को दी थी।

इसी के तहत आज सैकड़ों किसानों ने अशोक लाट से जुलुस निकालकर कलेक्ट्रेट में जाकर प्रदर्सन किया वतथा इसके बाद किसानों का हुजूम पैदल यात्रा कर केन नदी पंहुचा जहां नदी की जलधारा में बैठकर अवैध खनन पर अपना विरोध प्रकट करते हुए हजल सत्याग्रह आंदोलन किया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned