अनुपस्थित कर्मचारियों को लेकर सख्त हुए सीएम, दिया कार्रवाई का निर्देश

किसान से बातकर की राहत राशि मिलने की पुष्टि

By: Santosh kumar Pandey

Published: 03 Jun 2020, 02:59 PM IST

बेंगलूरु. मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने बागवानी उत्पादक सहकारी समिति और प्रसंस्करण सोसायटी (हॉपकॉम्स) कर्मचारियों की अनुपस्थिति पर सख्त नाराजगी जताई है। उन्होंने हॉपकॉम्स कर्मचारियों के खिलाफ सख्त अनुशासनात्मक कार्रवाई का निर्देश दिया है।

सीएम ने कृषि, बागवानी, रेशम उत्पादन विभाग समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने कहा कि बागवानी उत्पादक सहकारी समिति और प्रसंस्करण सोसायटी लिमिटेड के 150अनुपस्थित कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जानी चाहिए।
राज्य में 550 हॉपकॉम्स की दुकानों में से केवल 250 ही खुली हैं। मुख्यमंत्री ने दुकानों को नहीं खोलने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। इसके साथ ही उन्होंने कृषि और बागवानी विभागों में सभी प्रतिनियुक्तियों को रद्द करने का भी निर्देश दिया।
कृषि मंत्री बी सी पाटिल ने कहा कि उपकरणों की उपलब्धता, उपज की बिक्री और परिवहन से संबंधित शिकायतों का समाधान किया गया है। उन्होंने अधिकारियों को शहतूत के रोपण क्षेत्र के संबंध में ड्रोन सर्वेक्षण के बाद अतिक्रमित सरकारी भूमि को फिर से प्राप्त करने के लिए कहा।

666 करोड़ रुपये की राहत राशि
येडियूरप्पा ने मक्का और फूल उत्पादकों को ऑनलाइन लेनदेन के माध्यम से 666 करोड़ रुपये की राहत राशि जारी की है। राहत राशि के भुगतान को सुनिश्चित करते हुए उन्होंने एक किसान के साथ टेलीफोन पर बातचीत की और भुगतान की पुष्टि की। सीएम ने इससे पहले किसानों, बुनकरों और अन्य लोगों के लिए विशेष आर्थिक पैकेज की घोषणा की थी।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned