विषम परिस्थति में भी साथ निभाती है भक्ति: साध्वी भव्यगुणाश्री

  • धर्मसभा का आयोजन

By: Santosh kumar Pandey

Published: 21 Apr 2021, 02:55 PM IST

बेंगलूरु. साध्वी भव्यगुणाश्री ने कहा कि कोरोना के इस विषम संकट में परमात्मा की भक्ति ही साथ देती है। मनुष्य ने सब सामान प्लास्टिक में पैक कर दिया। परमात्मा ने मनुष्य को भी प्लास्टिक में पैक कर दिया। प्लास्टिक से हजारों लाखों मूक पशु पक्षी और विशेष तौर पर गोमाता को तकलीफ होती है।

उन मूक पशुओं की बद्दुआ आज सभी को सहन करनी पड़ रही है। हम हमारी संस्कृति को भूल गए, जिसका परिणाम भुगत रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना जून तक कमजोर पड़ेगा। तब तक मनुष्य को सरकारी गाइडलाइन का अक्षरश: पालन करना होगा।

शाश्वत नवपद की ओली के दूसरे दिन साध्वी भव्यगुणाश्री ने चावल और कांकरी का प्रसंग सुनाया। उन्होंने कहा कि भगवान ने जीवन में आनन्द भरा, उसका आनन्द छोड़़ कोरोना के पीछे पड़ गए हैं।

परमात्मा ने जो जिंदगी दी है उसे आनन्द से जीओ। भगवान ने तीन पेज की जिंदगी दी है। पहला जन्म, दूसरा आराधना व तीसरा मृत्यु। जन्म और मृत्यु हमारे हाथ में नहीं हैं जबकि आराधना हमारे हाथ में है।

इससे पूर्व साध्वी भव्यगुणाश्री व शीतल गुणाश्री की निश्रा में मंगलवार को पुष्य नक्षत्र के अवसर पर श्रीयंत्र महापूजन का अतिभव कार्यक्रम हुआ। श्रीयंत्र पूजन का लाभार्थी पारसमल भंसाली, सुनील कुंकुलोल परिवार रहा।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned