पार्टी छोडऩे वालों की घर वापसी आवश्यक नहीं : कुमारस्वामी

पार्टी युवा नेतृत्व को प्रोत्साहित करेगी

By: Sanjay Kulkarni

Published: 21 Jul 2021, 08:04 PM IST

बेंगलूरु. पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा कि पार्टी छोड़कर गए लोगों को जद-एस में वापस आने की आवश्यकता नहीं है।
उन्होंने मंगलवार को पार्टी की जिला समितियों के पदाधिकारियों के साथ वर्चुअल संवाद में भाग लेने से पहले कहा कि ऐसे लोगों की घर वापसी का पार्टी कोई प्रयास नहीं करेगी। अगर किसी नेता को पार्टी में घुटन महसूस हो रही है तो वह अपने राजनीतिक भविष्य का फैसला करने को आजाद है।
उन्होंने कहा कि पार्टी युवा नेतृत्व को प्रोत्साहित करेगी। निष्ठावान तथा कर्मठ कार्यकर्ताओं को वरीयता दी जाएगी। राज्य के सभी 224 विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के संघटन को मजबूत करने के लिए वे शीघ्र राज्यव्यापी दौरा करेंगे। अगले वर्ष पार्टी केवल संगठन पर ध्यान केंद्रित करेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में जनता दल एस को एक क्षेत्रीय दल के रूप में विकसित किया जाएगा, जो केवल राज्य के हितों की रक्षा पर बल देगा।
उन्होंने कहा कि अगले सप्ताह पार्टी के विधायकों का एक दल राज्यपाल से मिलकर राष्ट्रपति तथा प्रधानमंत्री के नाम से ज्ञापन सौंपेगा। इस ज्ञापन में केंद्र सरकार से कृष्णा तथा कावेरी जलबहाव क्षेत्रों की सिंचाई तथा पेयजल आपूर्ति की विभिन्न योजनाओं के लिए अनुमति देने की मांग की जाएगी। आजादी से पहले तथा आजादी के बाद भी सिंचाई परियोजनाओं को लेकर हमेशा कर्नाटक के साथ अन्याय जारी है।
राज्य में सत्तारुढ़ भाजपा में नेतृत्व परिवर्तन के बारे में उन्होंने कहा कि इस मामले में कांग्रेस दो फाड़ हो गई है। विधायक दल के नेता येडियूरप्पा को सबसे भ्रष्ट मुख्यमंत्री करार देकर राज्य के हितों की रक्षा के लिए सरकार का पतन जरूरी बताते हैं। लेकिन उन्हीं के लिंगायत समुदाय के नेता परोक्ष रूप से येडियूरप्पा का समर्थन कर रहे हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का भी इस मामले को लेकर कोई स्पष्ट रुख नहीं है।
राज्यपाल को ज्ञापन देंगे विधायक : कुमारस्वामी ने कहा कि राज्य के साथ हो रहे अन्याय को लेकर पार्टी के विधायक राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन राज्यपाल को सौपेंगे। ज्ञापन में मैकदाटू, महादयी और ऊपरी भद्रा परियोजना मामले में किस तरह केंद्र ने राज्य को पहली दी गई अनुमति को पलटा, इसकी जानकारी दी जाएगी। कुमारस्वामी ने कहा कि दोनों राष्ट्रीय दल- भाजपा और कांग्रेस राज्य के हितों की रक्षा करने में विफल रहे हैं।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned