scriptEvery second smartphone in the Indian market is from Chinese companies | भारतीय बाजार में हर दूसरा स्मार्टफोन चीनी कंपनियों का | Patrika News

भारतीय बाजार में हर दूसरा स्मार्टफोन चीनी कंपनियों का

  • भारत में टैक्स चोरी के बावजूद चीनी कंपनियों की सीनाजोरी
  • भारी मुनाफे के बावजूद घाटा दिखाकर कर रहीं टैक्स चोरी
  • भारत सरकार की चौतरफा कार्रवाई से चिढ़ी चीनी कंपनियां

बैंगलोर

Published: January 15, 2022 08:26:09 pm

राम नरेश गौतम

नई दिल्ली. केंद्रीय जांच ऐजेंसियां चीनी मोबाइल कंपनियों (Chinese Mobile Company) के बही-खातों की पड़ताल कर रही हैं। आरोप है कि इन कंपनियों ने न सिर्फ मनमाने तरीके से देश से बाहर रकम भेजी है, बल्कि टैक्स चोरी की और भारतीय मोबाइल कंपनियों को भारतीय बाजार में ही ना पनपने देने के लिए सभी हथकंडे अपनाए हैं।
भारतीय बाजार में हर दूसरा स्मार्टफोन चीनी कंपनियों का
भारतीय बाजार में हर दूसरा स्मार्टफोन चीनी कंपनियों का
हालांकि इस कार्रवाई पर चाइनीज चैम्बर ऑफ कॉमर्स इन इंडिया तथा इंडिया चाइना मोबाइल फोन इंटरप्राइज ऐसोसिएशन ने ऐतराज जताया है। चीनी कंपनियों का दावा है कि भारत सरकार (Indian Government) की कार्रवाई नियमानुसार नहीं है। मगर भारतीय बाजार में चीनी कंपनियों के स्मार्टफोन की बिक्री के आंकड़े बताते हैं कि यहां ड्रैगन का ही कब्जा है।
माइक्रोमैक्स, लावा और कारबॉन भारतीय स्मार्टफोन निर्माता कंपनियां हैं, अब रिलायंस जियो भी नया खिलाड़ी है, मगर इन सभी की बाजार में पैठ चीन की कंपनियों सामने बौनी है। चीनी कंपनियों ने टैक्स की चोरी की। भारत में कम आमदनी दिखाई जबकि आंकड़े कुछ और ही कहानी बयां कर रहे हैं।

ज्यादा कमाई कम दिखाई
चीनी कंपनियों ने रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज में जो फाइलिंग की है, उसमें घाटा दिखाया है। जबकि इस दौरान शियोमी, ओप्पो और वीवो फोन बेचने वाली कंपनियों की लिस्ट टॉप पर रही हैं।
शियोमी ने सिर्फ वर्ष 2016-17 और 2017-18 में लाभ तो 2018-19 तथा 2019-20 में घाटा दिखाया है। ओप्पो ने 2016 से 2021 तक लगातार घाटा दिखाया है। इन चार वित्तीय वर्षों में वीवो ने सिर्फ 2018-19 में खुद को लाभ में दिखाया है।

हमारे बाजार में ड्रैगन का हिस्सा आधे से ज्यादा
2020 की तीसरी तिमाही से 2021 के तीसरी तिमाही के आंकड़ों का विश्लेषण बताता है कि देश में हर दूसरा स्मार्टफोन चीनी कंपनियों का है। 2020 के तीसरे क्वार्टर में भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में चीन की कंपनियों का हिस्सा 64 प्रतिशत था और साल भर बाद 2021 के तीसरे क्वार्टर में यह 63 फीसदी पर टिका हुआ है।

भारतीय स्मार्टफोन बाजार में हिस्सेदारी (तीसरी तिमाही 2021)
कंपनी हिस्सेदारी(प्रतिशत)
शियोमी 23
सैमसंग 17
वीवो 15
रियलमी 15
ओप्पो 10
अन्य 20
(स्रोत: काउंटर प्वाइंट रिसर्च)


मजबूत पॉलिसी की जरूरत
विशेषज्ञ बताते हैं कि स्मार्टफोन एप्लीकेशन प्रोसेसर प्रोडक्ट्स जैसे सेमी कंडक्टर चिप, स्क्रीन आदि का भारतीय बाजार तैयार करने की जरूरत है ताकि चीनी कंपनियों-शियोमी, ओप्पो, वीवो, रियलमी, वन प्लस का वर्चस्व खत्म हो।
खामियां जल्द दूर हों
भले ही चीनी कंपनियां भारत में मोबाइल मैन्यूफैक्चरिंग कर रही हैं, लेकिन नीतिगत खामियों का फायदा उठाकर कंपनियां चीन से पार्ट लाकर भारत में असेम्बलिंग कर प्रोडक्ट बाजार में उतार देती हैं। खामियाजा भारतीय कंपनियों को उठाना पड़ता है। उम्मीद है कि भारत सरकार की नीतियां इस खामी को जल्द दूर करंेगी।
- नवनीत पाठक, राष्ट्रीय संयुक्त महासचिव, ऑल इंडिया मोबाइल रिटेलर ऐसोसिएशन
भारतीय बाजार में हर दूसरा स्मार्टफोन चीनी कंपनियों काPatrika .com/upload/2022/01/15/mobil_hands_7277968-m.jpg">

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कम उम्र में ही दौलत शोहरत हासिल कर लेते हैं इन 4 राशियों के लोग, होते हैं मेहनतीबाघिन के हमले से वाइल्ड बोर ढेर, देखते रहे गए पर्यटक, देखें टाइगर के शिकार का लाइव वीडियोइन 4 राशि की लड़कियों का हर जगह रहता है दबदबा, हर किसी पर पड़ती हैं भारीआनंद महिंद्रा ने पूरा किया वादा, जुगाड़ जीप बनाने वाले शख्स को बदले में दी नई Mahindra BoleroFace Moles Astrology: चेहरे की इन जगहों पर तिल होना धनवान होने की मानी जाती है निशानीइन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशदेश में धूम मचाने आ रही हैं Maruti की ये शानदार CNG कारें, हैचबैक से लेकर SUV जैसी गाड़ियां शामिल

बड़ी खबरें

Republic Day 2022 LIVE updates: राजपथ पर दिखी संस्कृति और नारी शक्ति की झलक, 7 राफेल, 17 जगुआर और मिग-29 ने दिखाया जलवारेलवे का बड़ा फैसला: NTPC और लेवल-1 परीक्षा पर रोक, रिजल्‍ट पर पुर्नविचार के लिए कमेटी गठितRepublic Day 2022: गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की किलेबंदी, जमीन से आसमान तक करीब 50 हजार सुरक्षाबल मुस्तैदUP Assembly Elections 2022 : सपा सांसद आजम खां जेल से ही करेंगे नामांकन, कोर्ट ने दी अनुमतिकोटा में रिवरफ्रंट पर लगेगी विश्व की सबसे बड़ी घंटी, वजन होगा 57 हजार किलोक्या योगी आदित्यनाथ फिर बनेंगे यूपी के मुख्यमंत्री? जानिए क्या कहती हैं ज्योतिषीयों की भविष्यवाणीकांग्रेस युक्त भाजपा! कविता के जरिए शशि थरूर ने पार्टी छोड़ रहे नेताओं और बीजेपी पर कसा तंजRPN Singh के पार्टी छोड़ने पर बोले CM गहलोत, आने वालों का स्वागत तो जाने वालों का भी स्वागत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.