नतीजों से पहले प्रवेश देने व सीट रोकने का खेल शुरू

नतीजों से पहले प्रवेश देने व सीट रोकने का खेल शुरू

Sanjay Kumar Kareer | Updated: 21 Apr 2018, 06:15:36 PM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

नियम तोडऩे में अभिभावक भी नहीं हैं पीछे
शिक्षा विभाग ने भी कार्रवाई से झाड़ा पल्ला

बेंगलूरु. प्रदेश बोर्ड 10वीं और 12वीं परीक्षा परिणाम से पहले ही प्रदेश के कई प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेजों व यूजी कालेजों ने चुपके-चुपके सशर्त प्रवेश देना शुरू कर दिया है।

अभिभावकों की मानें तो जहां पीयू कॉलेज 10वीं प्रारंभिक परीक्षा में अर्जित अंकों के आधार पर प्रवेश दे रहे हैं वहीं पीयू कॉलेज एक तिहाई शुल्क जमा करा सीटें ब्लॉक कर रहे हैं। हालांकि कॉलेज प्रवेश या सीट ब्लॉकिंग के नाम पर लिए गए पैसों का कोई रसीद नहीं दे रहे हैं। पूरा खेल मौखिक व विश्वास के आधार पर चल रहा है।

१०वीं प्रारंभिक परीक्षा में 90 फीसदी से ऊपर अंक लाने वाले विद्यार्थियों को पीयू कॉलेज आराम से प्रवेश दे रहे हैं। जबकि यूजी कॉलेजों का तर्क है कि पीयूसी परीक्षा परिणाम आने के बाद वे प्रतियोगी परीक्षा का आयोजन करेंगे। कई कॉलेज तो अभिभावकों को ये भरोसा तक दे रहे हैं कि कम अंक आने या बाद में प्रवेश नहीं लेने वाले बच्चों की फीस वे लौटा देंगे। इन सबके बीच ऐसे कॉलेजों की कमी भी नहीं है जो बच्चों व अभिभावकों को उनके मोबाइल पर संदेश भेज उनके यहां उपलब्ध सीटों व पाठ्यक्रमों की जानकारी दे रहे हैं। नियमानुसार परिणाम आने के बाद ही कॉलेज प्रवेश संबंधित विज्ञापन जारी कर सकते हैं।

सबूत व लिखित शिकायत पर ही कार्रवाई
सीट ब्लॉकिंग का खेल जारी है। शिक्षा विभाग को इसकी जानकारी भी है। लेकिन विभाग खुद को मजबूर बता रहा है।डीपार्टमेंट ऑफ प्री-यूनिवर्सिटी एजुकेशन बोर्ड की निदेशक सी. शिखा का कहना है कि सबूत के साथ लिखित शिकायत मिलने पर ही बोर्ड कार्रवाई कर सकता है। अभिभावक चाहें तो शिकायत दर्ज करा सकते हैं।नियमों का उल्लंघन कर रहे कॉलेजों पर विभाग की नजर भी है। गत वर्ष कुछ कॉलेजों के खिलाफ कार्रवाई भी हुई थी। बावजूद इसके कॉलेज अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहे हैं। अभिभावक भी मनचाहे कॉलेजों में बच्चों को प्रवेश दिलाने के लिए नियमों की अनदेखी कर रहे हैं।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned