शिक्षण संस्थान चलाने वाले मठों की मदद करे सरकार

भाजपा के वरिष्ठ नेता केएस ईश्वरप्पा ने सरकार से आग्रह किया है कि प्रदेश में शिक्षण संस्थान चलाने वाले पिछड़ा और दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले मठों की वित्तीय मदद बढ़ाई जाए।

By: शंकर शर्मा

Published: 02 Jul 2019, 05:41 AM IST

कोलार. भाजपा के वरिष्ठ नेता केएस ईश्वरप्पा ने सरकार से आग्रह किया है कि प्रदेश में शिक्षण संस्थान चलाने वाले पिछड़ा और दलित समुदाय से ताल्लुक रखने वाले मठों की वित्तीय मदद बढ़ाई जाए। उन्होंने सोमवार को शहर के टी. चन्नय्या रंग मंदिर में कर्नाटक प्रदेश कुरुबरा संघ जिला शाखा की ओर से प्रतिभा पुरस्कार समारोह में कहा कि पिछड़े वर्ग और दलितों के ३९ मठ शिक्षण संस्थान और छात्रावास का संचालन कर रहे हैं।


उन्होंने कहा कि संबंधित मठ प्रमुखों ने तत्कालीन मुख्यमंत्री डीवी सदानंद गौड़ा से ज्यादा अनुदान की मांग की थी तो सरकार ने ९० करोड़ रुपए जारी किए थे। उन्होंने कहा कि हर समुदाय केे सर्वांगीण विकास और अधिकारों के प्रति जागरूकता के लिए बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करना जरूरी है।

दलित और पिछड़ा वर्ग के बच्चे अपेक्षाकृत अच्छी शिक्षा से वंचित रह जाते हैं, इससे सामाजिक न्याय की अवधारणा प्रभावित होती है। यह खुशी की बात है कि इस बार ३२० छात्रों को प्रतिभा पुुरस्कार दिया जा रहा है। अगले साल ५०० छात्रों को पुरस्कार देने का लक्ष्य रखा गया है। इस अवसर पर आवास मंत्री एटीबी नागराज, मंंत्री आर. शंकर और अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


निस्तारण सप्ताह में निपटाई साढ़े तीन हजार फाइलें
धारवाड़. जिलाधिकारी दीपा चोळन ने कहा है कि राजस्व मंत्री के निर्देशानुसार धारवाड़ जिले के राजस्व विभाग में 24 से 30 जून तक फाइलों का निस्तारण सप्ताह मनाया गया। इस उपलक्ष्य में 3 हजार 36 5 फाइलों का निस्तारण किया गया। उन्होंने धारवाड़ में जिलाधिकारी कार्यालय के विविध विभागों, धारवाड़-हुब्बल्ली समेत तहसीलदार कार्यालय तथा राजस्व विभाग कार्यालयों का दौरा कर फाइलों के निस्तारण की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि 18 नवम्बर 2018 तक 2 हजार 76 7 फाइलें बकाया थे। 18 नवम्बर 2018 से 21 जून 2019 तक 24 हजार 137 नए फाइलों को खोला गया था। 18 नवम्बर 2018 से 21 जून 2019 तक के 21 हजार 491 फाइलों का निपटारा किया गया है।


फाइल निपटारा सप्ताह पूर्व में 5 हजार 413 फाइलों का निपटारा करना बकाया था। सप्ताह के दौरान 3 हजार 36 5 फाइलों का निवारण किया गया है। सप्ताह के अंत में बकाया 2 हजार 48 फाइलों का अवधि के पश्चात नियमानुसार निपटारा किया जाएगा। राज्य के राजस्व मंत्री के निर्देश दिए जाने के चलते फाइल निपटारा करने संबंधित कार्रवाई कर नियमित रिपोर्ट सौंपने के लिए जिलाधिकारी ने राजस्व विभाग के सभी तहसीलदारों को एवं उप विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। धारवाड़ तहसीलदार प्रकाश कुदरी, राजस्व निरीक्षक पी.एम. हिरेमठ, विनायक दीक्षित, अजय आई, मल्लिकार्जुन बिरादर, एच.एस. देसाई, हनुमंत कोच्चरगी, शिवानंद हेब्बल्ली, ग्राम लेखाधिकारी, तहसीलदार कार्यालय कर्मचारी आदि उपस्थित थे।

शंकर शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned