हत्या के पुख्ता सबूत जुटाने जंगल की खाक छान रहे जांच कर्ता

हत्या के पुख्ता सबूत जुटाने जंगल की खाक छान रहे जांच कर्ता

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Jun, 07 2019 12:41:54 AM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

बेलगावी के बाद दक्षिण कन्नड़ जिले की बारी

बेंगलूरु. सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश और साहित्यकार प्रोफेसर एमएम कलबुर्गी की हत्या की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआइटी) ने अब और सबूत जुटाने के लिए दक्षिण कन्नड़ जिले का रुख किया है।

एसआइटी को पता चला है कि गौरी लंकेश और कलबुर्गी की हत्या करने के लिए आरोपियों ने मेंगलूरु के पास एक जंगल में भी प्रशिक्षण लिया था। २०१६ में कलबुर्गी की हत्या से पहले आरोपियों ने जंगल में प्रशिक्षण लिया।

गौरी लंकेश की हत्या के मामले में दल ने १८ आरोपियों को गिरफ्तार किया। इनमें से दो से पूछताछ के बाद कलबुर्गी हत्याकांड के मामले में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

परशुराम वाघमारे नेे गौरी लंकेश पर गोलियां चलाई थीं। जबिक गणेश मिस्किन ने कलबुर्गी पर गोंलियां चलाकर हत्या की थी। मेंगलूरु के अलावा बेलगावी जिले के खानापुर के जंगलोंं में भी गोली चलाने का प्रशिक्षण लिया गया था।

अमोल काले और चतुर से धारवाड़ में पूछताछ

धारवाड़ से मिली जानकारी के अनुसार एसआईटी ने अमोल काळे तथा प्रवीण चतुर को धारवाड़ लाकर पूछताछ की। उन्हें मौका ए वारदात पर ले जाकर भी पूछताछ की गई। अधिकारियों ने कल्याण नगर स्थित डॉ. कलबुर्गी के निवास के सामने दोनों आरोपियों से घर का गेट तथा सामने की सड़क से गेट तक की लंबाई नापी और आरोपियों से बयान दर्ज कर लिया। आरोपियों से पूछा गया कि घर आने तथा वहां से फरार होने के लिए किस मार्ग का इस्तेमाल किया था। सूत्रों के मुताबिक एसआईटी के 10 अधिकारियों के दल ने दोनों आरोपियों को बेंगलूरु से मंगलवार रात को ही यहां लाया गया था। बुधवार को दिन भर विभिन्न इलाकों का दौरा कर दोनों आरोपियों से बयान दर्ज किए गए और मौके की शिनाख्त करवाई गई। महाराष्ट्र के अमोल काळे को 21 मई को गिरफ्तार किया गया है। उसको शहर के तृतीय अतिरिक्त जेएमएफसी न्यायालय में पेश कर 7 जून तक पुलिस कस्टडी में लिया गया है। उससे मिली जानकारी के बाद बेलगावी के प्रवीण चतुर को 31 मई को गिरफ्तार किया गया।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned