राष्ट्रीय बैंक से ६०० करोड़ रुपए ऋण लेने की फिराक में था मंसूर

राष्ट्रीय बैंक से ६०० करोड़ रुपए ऋण लेने की फिराक में था मंसूर

Santosh Kumar Pandey | Updated: 15 Jun 2019, 08:58:02 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

आइएमए कंपनी के मालिक मोहम्मद मंसूर खान ने एक मंत्री को विश्वास में लेकर एक राष्ट्रीय बैंक से भारी भरकम ऋण लेने का प्रयास किया था।

आइएमए धोखाधड़ी मामला
एक मंत्री को विश्वास में लेकर दिया था आवेदन
बेंगलूरु. आइएमए कंपनी के मालिक मोहम्मद मंसूर खान ने एक मंत्री को विश्वास में लेकर एक राष्ट्रीय बैंक से भारी भरकम ऋण लेने का प्रयास किया था।

एसआइटी ने जांच में पता लगाया है कि मंसूर ने ६०० करोड़ रुपए के ऋण के लिए बैंक में आवेदन दिया था। बैंक अधिकारियों ने सरकार की ओर से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) की मांग की। मंसूर ने एक मंत्री के जरिए एनओसी लेने का प्रयास किया।

जानकारी के अनुसार मंसूर खान ने एक मुस्लिम नेता के जरिए एक मंत्री से मुलाकात की। संबंधित मंत्री के जरिए एक विभाग के वरिष्ठ आइएएस अधिकारी को एनओसी देने को कहा गया। मगर, उस अधिकारी को कंपनी के बारे में संदेह था, इसलिए एनओसी देने से इनकार कर दिया। मंत्री ने उस अधिकारी पर कई तरह के दबाव डाले। उस अधिकारी ने स्पष्ट रूप से बताया कि अगर भविष्य में कुछ गड़बड़ी हुई तो सबसे पहले उसकी गिरफ्तारी होगी और वे किसी भी हालत में एनओसी नहीं दे सकता, चाहे नौकरी से इस्तीफा ही क्यों ना देना पड़े। इस अधिकारी के कारण मंसूर खान को ऋण नहीं मिला। अब अधिकारी ने मंत्री से भेंट की और बताया कि अगर एनओसी दे देता तो उसके भी जेल जाने की संभावना थी। मंत्री ने इस अधिकारी का शुक्रिया अदा किया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned