script दुर्लभ बीमारियों पर जागरूकता फैलाने के लिए दौड़ेंगे 20 हजार से ज्यादा लोग | More than 20 000 people will run to spread awareness on rare disease | Patrika News

दुर्लभ बीमारियों पर जागरूकता फैलाने के लिए दौड़ेंगे 20 हजार से ज्यादा लोग

locationबैंगलोरPublished: Feb 13, 2024 09:26:46 am

Submitted by:

Nikhil Kumar

  • कन्नड़ फिल्म अभिनेता और निर्देशक Ramesh Arvind दौड़ को हरी झंडी दिखा रवाना करेंगे। अरविंद ने अपने संदेश में कहा, हमारा हर कदम जागरूकता बढ़ाने और दुर्लभ बीमारियों से जूझ रहे मरीजों के लिए समाधान खोजने के करीब लाएगा

दुर्लभ बीमारियों  पर जागरूकता फैलाने के लिए दौड़ेंगे 20 हजार से ज्यादा लोग
दुर्लभ बीमारियों पर जागरूकता फैलाने के लिए दौड़ेंगे 20 हजार से ज्यादा लोग

ऑर्गेनाइजेशन फॉर रेयर डिजीज इंडिया (Organization for Rare Diseases India) 25 फरवरी को बेंगलूरु सहित देश के 15 शहरों में अपने वार्षिक प्रमुख कार्यक्रम, 'रेसफॉर7' की मेजबानी करेगा। इस सात किलोमीटर की दौड़ का प्राथमिक उद्देश्य दुर्लभ बीमारियों के बारे में जागरूकता बढ़ाने सहित मरीजों और उनके परिवारों को राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय संसाधनों तक पहुंच प्रदान कर उन्हें सशक्त बनाना है। 20 हजार से ज्यादा लोगों के इस दौड़ में हिस्सा लेने की उम्मीद है।

बेंगलूरु में दौड़ की शुरुआत सुबह सात बजे सेंट जोसेफ इंडियन हाई स्कूल ग्राउंड से होगी। कन्नड़ फिल्म अभिनेता और निर्देशक रमेश अरविंद दौड़ को हरी झंडी दिखा रवाना करेंगे। अरविंद ने अपने संदेश में कहा, हमारा हर कदम जागरूकता बढ़ाने और दुर्लभ बीमारियों से जूझ रहे मरीजों के लिए समाधान खोजने के करीब लाएगा।

सोमवार को कब्बन पार्क में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित कर रहीं डॉ. मीनाक्षी भट ले कहा कि राष्ट्रीय उपचार के तहत प्रति मरीज इलाज के लिए 50 लाख रुपए की एकमुश्त सहायता का प्रावधान है। Rare diseases (दुर्लभ बीमारियों) के लिए नीति के तहत कई मरीजों को पहले ही नामांकित किया जा चुका है।

इंदिरा गांधी इंस्टीट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ और सेंटर फॉर ह्यूमन जेनेटिक्स, बेंगलूरु के उत्कृष्टता केंद्र ने इलाज के लिए लगभग 150 मरीजों को नामांकित करके एक महत्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। हालांकि, अभी भी कई बाधाएं हैं और बहुत लंबा रास्ता तय करना है।

ट्रेंडिंग वीडियो