मंत्रालयम में संघ परिवार व भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की चिंतन बैठक, लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा

मंत्रालयम  में संघ परिवार व भाजपा के वरिष्ठ नेताओं की चिंतन बैठक, लोकसभा चुनाव की रणनीति पर चर्चा

Kumar Jeevendra | Updated: 01 Sep 2018, 12:56:53 AM (IST) Bengaluru, Karnataka, India

भागवत व शाह तीन दिवसीय बैठक में पहुंचे

बेंगलूरु. अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले चुनावी रणनीति तैयार करने के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और भाजपा के नेताओं की तीन दिवसीय चिंतन बैठक शुक्रवार को रायचूर जिले से सटे आंध्र प्रदेश के कर्नूल जिले के मंत्रालयम में शुरू हुई। बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी भाग ले रहे हैं। बैठक में भाग लेने के लिए भागवत और शाह गुरुवार रात ही मंत्रालयम पहुंच गए थे। भागवत ने बैठक शुरू होने से पहले मंत्रालयम में तुंगभद्रा नदी के दक्षिणी तट पर स्थित ऐतिहासिक राघवेंद्र स्वामी मंदिर व मठ का दौरा किया और पूजा-अर्चना की।
यह पहला मौका है जब संघ व भाजपा की चिंतन बैठक दक्षिण के किसी राज्य में हो रही है। हालांकि, संघ परिवार के पदाधिकारी इसे सामान्य बैठक बता रहे हैं लेकिन माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव से पहले हो रही बैठक में राजनीतिक और सामाजिक मसलों पर भी चर्चा होगी। इसके अलावा अगले कुछ महीनों में होने वाले राजस्थान, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और मिजोरम के विधानसभा चुनाव पर भी चर्चा होगी। बैठक में विश्व हिंदू परिषद सहित संघ परिवार के सभी अनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधि भी भाग ले रहे हैं। टीटीडी कल्याण मंडप में चल रही बैठक से मीडिया को पूरी तरह दूर रखा गया है।
गोहत्या पर प्रतिबंध लगाना जरुरी : सुबुधेंद्र तीर्थ
सूत्रों के मुताबिक चिंतन बैठक का उद्घाटन करते हुए राघवेंद्र मठ के प्रमुख सुबुधेंद्र तीर्थ स्वामी ने कहा कि सनातन धर्म की रक्षा करना हमारा सामाजिक दायित्व है। सशक्त संगठन के बल पर ही धर्म की रक्षा संभव है। उन्होंने कहा कि गो-हत्या पर प्रतिबंध लगाया जाना आवश्यक है और इस मांग को लेकर हमें देशव्यापी आंदोलन चलाना चाहिए।

mohan bhagwat

हमारा कोई विरोधी नहीं
कांग्रेस द्वारा की गई आलोचना पर पलटवार करते हुए संघ ने शुक्रवार को कहा कि उसका कोई विरोधी नहीं है और वह राष्ट्रीय हितों के लिए काम करती है। तीन दिवसीय अखिल भारतीय चिंतन बैठक के पहले दिन पत्रकारों से बातचीत करते हुए संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार ने कहा कि संघ किसी को भी अपना विरोधी नहीं मानता है। संघ पूरे समाज को राष्ट्रहित मेें एकजुट करने के लिए काम करता है। उन्होंने यह बात कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के संघ परिवार को लेकर की गई आलोचनात्मक टिप्पणी के बारे में पूछे जाने पर कही। बैठक के एजेंडे के बारे में पूछे जाने पर कहा कि यह संघ के लिए समान्य प्रक्रिया है और इस तरह की बैठक का आयोजन साल में दो बार-जनवरी और सितम्बर में होता है। उन्होंने कहा कि ऐसी बैठकें सिर्फ राजनीतिक तक सीमित नहीं होते हैं, इसलिए लोकसभा चुनाव से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए। इसमें सभी संघ के पदाधिकारी और विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधि ज्वलंत मसलों पर चर्चा करने के साथ ही अपने विचार, अनुभव और उपलब्धि को साझा करते हैं। उन्होंने कहा कि इस बैठक में संघ परिवार के विभिन्न संगठनों के 200 से अधिक अखिल भारतीय स्तर के पदाधिकारी भाग ले रहें है। बैठक में हर संगठन अपने-अपने संगठन की गतिविधियों का ब्योरा पेश करता है। संघ के लिए यह महज एक वार्षिक प्रक्रिया है। उन्होंने कहा कि बैठक में भाजपा का प्रतिनिधित्व राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तथा राष्ट्रीय संगठन मंत्री रामलाल कर रहे हैं।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned