निम्हांस की सातवीं कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव

स्वास्थ्य विभाग पता लगाने में जुटा है कि यह महिला पहले पॉजिटिव निकली छह मरीजों से संक्रमित हुई या फिर कहीं और से।

By: Nikhil Kumar

Published: 17 Jun 2020, 02:05 AM IST

बेंगलूरु. राष्ट्रीय मानसिक आरोग्य व स्नायु विज्ञान संस्थान (National Institute of Mental Health and Neuro-Sciences) की एक और सफाईकर्मी कोरोना पॉजिटिव निकली है। निम्हांस (NIMHANS) के रेजिडेंट चिकित्सा अधिकारी डॉ. शशिधर ने बताया कि 24 वर्षीय यह महिला इंजीनियरिंग विभाग में कार्यरत थी।

तीन दिन पहले पॉजिटिव मिली छह महिला कर्मचारियों के संपर्क में ये महिला भी थी। इसकी बहन पहले ही संक्रमित हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग पता लगाने में जुटा है कि यह महिला पहले पॉजिटिव निकली छह मरीजों से संक्रमित हुई या फिर कहीं और से।

विक्टोरिया की तीन नर्स भी चपेट में
विक्टोरिया सरकारी अस्पताल में भी तीन नर्स (दो महिला और एक पुरुष) में संक्रमण की पुष्टि हुई है। तीनों में कोरोना वायरस संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे। तीनों को क्वारंटाइन किया गया था। क्वारंटाइन अवधि के अंमित दिन तीनों पॉजिटिव निकले। इससे पहले एक और नर्स भी क्वारंटाइन के अंतिम दिन ही पॉजिटिव निकली थी।

बेंगलूरु मेडिकल कॉलेज एंड रिसर्च इंस्टीट्यूट की डीन डॉ. सी. जयंती ने बताया कि नर्सेस विभिन्न बैचों में ड्यूटी करती है। कुछ सप्ताह तक काम करने के बाद संबंधित बैच की नर्सों को अस्पताल में ही दो सप्ताह के लिए क्वारंटाइन किया जाता है।

क्वारंटाइन अवधि समाप्त होने के एक दिन पहले सभी को कोरोना के लिए जांचा जाता है। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर ही इन्हें घर जाने की इजाजत होती है। ताकि परिवार के अन्य लोग सुरक्षित रह सके।

Nikhil Kumar Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned