आरक्षण के तौर-तरीकों पर हो रहा विचार: येडि

आरक्षण सीमा में संशोधन की मांग

By: Sanjay Kulkarni

Published: 20 Feb 2021, 05:36 AM IST

बेंगलूरु. राज्य के विभिन्न समुदायों की ओर से मौजूदा आरक्षण सीमा में संशोधन की मांग पर अमल करने के लिए राज्य सरकार तौर-तरीकों पर विचार कर रही है।मुख्यमंत्री बीएस येडियूरप्पा ने यहां शुक्रवार को कहा कि उन्होंने इस मामले पर मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा की है। सभी मंत्रियों ने अपने विचार भी व्यक्त किए हैं।

इस मामले में क्या करना है और कैसे आगे बढऩा है इसके तौर-तरीकों पर चर्चा हो रही है। सोच समझकर निर्णय किया जाएगा।इससे पहले मंत्रिमंडल के फैसलों की जानकारी देते हुए गृहमंत्री बसवराज बोम्मई ने कहा था कि मुख्यमंत्री ने सभी मंत्रियों की राय को नोट किया है। विधि विशेषज्ञों से राय ली जाएगी और आरक्षण के मामले में अदालत के फैसलों की समीक्षा भी की जाएगी। इसके बाद अंतिम निर्णय किया जाएगा।

पंचमशाली समुदाय को 2 ए प्रवर्ग में शामिल करने का विरोध नहीं

सवदी और शेट्टर ने दिया स्पष्टीकरण

बेंगलूरु. उप मुख्यमंत्री लक्ष्मण सवदी और जगदीश शेट्टर ने बयान जारी कर कहा है कि उन्होंने पंचमशाली समुदाय को 2 ए प्रवर्ग में शामिल करने का कभी विरोध नहीं किया।लक्ष्मण सवदी ने कहा कि इस तरह की खबरें आ रही हैं कि मंत्रिमंडल की बैठक के दौरान उन्होंने तथा उद्योग मंत्री जगदीश शेट्टर ने प्रस्ताव का विरोध किया था। लेकिन, ये खबरें बेबुनियाद हैं। वे पंचमशाली समुदाय के आरक्षण का समर्थन करते हैं।

उन्होंने कहा कि बेलगावी के सुवर्णसौधा में आयोजित शीत सत्र के दौरान जब समुदाय के प्रमुख स्वामी जयमृत्युंजय ने भूख हड़ताल की थी तब वे उनके साथ थे और भूख हड़ताल वापस लेने की अपील की थी। उन्होंने कभी भी इस समुदाय की मांग का विरोध नहीं किया। उन्हें बदनाम करने की कोशिश की जा रही है।

Sanjay Kulkarni Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned