बेटा, बेटी के साथ यह दंपती चला संन्यास की डगर पर

बेटा, बेटी के साथ यह दंपती चला संन्यास की डगर पर

Ram Naresh Gautam | Publish: Nov, 10 2018 04:10:04 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

दीक्षा जीवन का अलौकिक आनंद

एक ही परिवार के 4 दीक्षार्थियों का अभिनंदन

बेंगलूरु. तेरापंथ भवन, गांधीनगर में साध्वी कंचनप्रभा के सान्निध्य में आचार्य महाश्रमण द्वारा दीक्षित होने वाले एक ही परिवार के दीक्षार्थी अशोक बोहरा, पत्नी पुष्पलता बोहरा, पुत्र कुलदीप, पुत्री कोमल का अभिनंदन समारोह हुआ।

तेरापंथ सभा बेंगलूरु के अध्यक्ष मूलचंद नाहर, देवराज नाहर, मुकेश नाहर, शशिकला नाहर, तेयुप के राष्ट्रीय अध्यक्ष विमल कटारिया, इन्द्रचंद धोका आदि ने 11 तारीख को दीक्षित होने वाले चारों वैरागी जनों के स्वागत व विदाई प्रसंग पर विचार रखे।

नाहर परिवार की वधुओं ने गीत का संगान किया। बच्चों ने मिलकर भावनाएं रखीं। विजिता राय सोनी ने दीक्षार्थियों का परिचय दिया। मुमुक्षु अशोक व पुत्री कोमल ने भी विचार रखे।

साध्वी कंचनप्रभा ने कहा कि तेरापंथ धर्म संघ में दीक्षा जीवन का अलौकिक आनंद है। अनुशासन, विनय, समर्पण की त्रिवेणी में हर पल डुबकी लेते रहना है। साध्वी मंजूरेखा ने कहा कि यह हमारे धर्म संघ का अजीब इतिहास है कि एक ही परिवार के चारों सदस्य एक साथ दीक्षित हो रहे हों।

इससे पूर्व एक पुत्री दीक्षित हो चुकी है। यह बोहरा परिवार का ही सौभाग्य है। संचालन व अभिनंदन पत्र वाचन उपाध्यक्ष दीपचंद नाहर ने किया। सभी संघीय संस्थाओं के सम्मान में अभिनंदन पत्र प्रदान किया गया।

तेरापंथ सभा विजय नगर, यशवंत पुर, राजाजी नगर, हनुमंत नगर, महिला मंडल, युवक परिषद, अणुव्रत समिति, ट्रस्ट, महासभा के उपाध्यक्ष, स्थानकवासी समाज, मूर्तिपूजक समाज, ओसवाल जैन, भिक्षुधाम, तुलसी महाप्रज्ञ चेतना सेवा केन्द्र के पदाधिकारी मौजूद रहे। आभार तेरापंथ युवक परिषद अध्यक्ष सुनील बाबेल ने जताया।

Ad Block is Banned