अंकसूची में गड़बड़ी : 10000 शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया स्थगित

अंकसूची में गड़बड़ी : 10000 शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया स्थगित
Creature

Ram Naresh Gautam | Updated: 18 Sep 2019, 05:27:52 PM (IST) Bangalore, Bangalore, Karnataka, India

  • सार्वजनिक शिक्षा विभाग ने अंक सूचियों में गलतियां पाए जाने पर प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया स्थगित की है। भर्ती के लिए विज्ञापन जारी होने के बाद से कोई ना कोई गड़बड़ी सामने आती रही है। अब विभाग को अंकसूचियों में गलती दिखी है।

बेंगलूरु. कर्नाटक में सार्वजनिक शिक्षा विभाग ने अंक सूचियों में गलतियां पाए जाने पर प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया स्थगित की है।

उपाधि प्राप्त प्राथमिक शिक्षकों की नियुक्ति के लिए कर्नाटक के सार्वजनिक शिक्षा विभाग के निविदा आमंत्रित किए जाने की तारीख से लेकर कोई ना कोई गड़बड़ी सामने आती रही है। अब विभाग को अंकसूचियों में गलती दिखी है।

उम्मीदवारों ने नियुक्ति में भ्रष्टाचार का संदेह व्यक्त किया है। विभाग ने 10 हजार शिक्षकों की नियुक्ति के लिए 2017 में अधिसूचना जारी कर परीक्षा करवाई थी।

नियुक्ति प्रक्रिया अरंभ हुए दो साल बीत गए, लेकिन अभी तक नियुक्ति पत्र जारी नहीं हुए। गत सप्ताह विभाग ने स्पर्धात्मक परीक्षा की अंकसूची जारी की हैं।

कोप्पल जिले के संंगमेश नामक उम्मीदवार को दो अंक सूचियां दी गई हैं। इसमें विभाग की गलती स्पष्ट रूप से दिखाई दे रही है।

पहली अंक सूची में 96 अंक हैं तो दूसरी अंक सूची में 86 अंक दिए गए हैं। कोप्पल जिले के उम्मीदवार या हैदराबाद-कर्नाटक क्षेत्र के किसी भी उम्मीदवार आरक्षण में या बिना आरक्षण श्रेणी के अंतर्गत परीक्षा दे सकते हैं।

अगर किसी कारण से दोनों परीक्षा दी हैं तो उम्मीदवार का नंबर अलग होना चाहिए था। एक अन्य उम्म्मीदवार को 100 अंकों के प्रश्नपत्र में 0.50, और 0.25 अकं मिले हैं, जबकि इतने अंक के सवाल ही परीक्षा में पूछे नहीं गए थे।

2017 में 10,611 पदों के लिए परीक्षा में 68,832 उम्मीदवारों ने आवेदन दिए थे और 55,429 उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned