केआइए पर कन्नड़ में बात करने वाला ह्यूमनॉइड कैंपा

केआइए पर कन्नड़ में बात करने वाला ह्यूमनॉइड कैंपा

Sanjay Kumar Kareer | Publish: Mar, 30 2018 04:38:52 PM (IST) Bangalore, Karnataka, India

ह्यूमनॉइड कैंपा को बेंगलूरु की ही एक स्टार्टअप कंपनी ने बनाया है और इसका परीक्षण करने के लिए इसे केआइए पर तैनात किया जा रहा है।

बेंगलूरु. कैंपेगौड़ा हवाई अड्डे (केआइए) पर अगली बार जब आप पहुंचें तो संभव है कि आपका सामना वहां कैंपा से हो जाए। हवाई अडडे के बारे में जानकारी देने या पर्यटकों को सूचनाएं देने के लिए कैंपा को तैनात करने की तैयारी की जा रही है। अब आप यह सोच रहे होंगे कि यह कैंपा है कौन? तो आपको बताते हैं कि यह एक ह्यूमनॉइड यानी कृत्रिम बुद्धिमत्ता वाला एक रोबॉट है, जो बिल्कुल मानव की तरह व्यवहार करने में सक्षम है।

पर्यटन और आईटी मंत्री प्रियांक खरगे ने गुरुवार को कैंपा के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इस ह्यूमनॉइड को बेंगलूरु की ही एक स्टार्टअप कंपनी ने बनाया है और इसका परीक्षण करने के लिए इसे केआइए पर तैनात किया जा रहा है। खरगे ने बताया कि कैंपा राज्य के विभिन्न पर्यटन स्थलों के बारे में जानकारी देने में सक्षम है। इतना ही नहीं कैंपा यात्रियों से कन्नड़ में बात करने में भी सक्षम है। वह आपसे पूछेगा कि राज्य में आपकी यात्रा कैसी रही और अन्य ऐसी ही बातें भी बोलेगा।

खरगे ने ट्विटर पर एक विडियो शेयर किया है,जिसमें कैंपा को यात्रियों के साथ कन्नड़ में बात करते देखा जा सकता है। वह यात्रियों को पर्यटन स्थलों की जानकारी देने के साथ ही सामान्य बातचीत भी करता नजर आ रहा है। कैंपा यात्रियों को चैक-इन की सूचनाएं और हवाई अड्डे पर अन्य सुविधाओं के बारे में दिशा-निर्देश भी दे सकेगा।

विदेशों में हवाई अड्डों पर यात्रियों की मदद के लिए ऐसे ह्यूमनॉइड रोबॉट्स का दिखना अब एक आम बात हो चुकी है। हाल ही में जर्मनी के म्यूनिख हवाई अड्डे पर टर्मिनल 2 पर ऐसे ही एक ह्यूमनॉइड को तैनात किया गया है। वह यात्रियों को चैक इन, उनके सामान की जांच और बोर्डिंग पास आदि लेने में मदद करता है।

आई टी मंत्री प्रियांक खरगे का कहना है कि राज्य सरकार ने स्टार्टअप नीति से कई नई कंपनियों को मदद की है। राज्य में एक ऐसा माहौल बनाया गया है जिसमें स्टार्टअप्स नवोन्मेषी विचारों के साथ सामने आ सकें। यह ह्यूमनॉइड कैंपा पूरी तरह बेंगलूरु में ही विकसित किया गया है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned