तीन सरकारी कर्मचारी रिश्वत लेते पकड़े गए

तीन जिलों में कार्रवाई

By: Santosh kumar Pandey

Published: 14 Jan 2021, 04:35 PM IST

बेंगलूर. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) अधिकारियों ने प्रदेश के तीन जगहों पर कार्रवाई कर रिश्वत ले रहे तीन सरकारी कर्मचारियों को गिरफ्तार किया। एसीबी अधिकारियों के अनुसार गदग जिले रोणा तहसील होले आलूर गांव के एक युवक ने पिता की मौत होने के बाद भूमि के दस्तावेज उसके नाम करने के लिए बादामी तहसीलदार के कार्यालय में आवेदन किया था। बादामी के राजस्व विभाग के निरीक्षक शिवरायप्पा जोगी ने पांच हजार रुपए रिश्वत मांगी। बुधवार सुबह उसे रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया। बागलकोट एसीबी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है।

चित्रदुर्ग जिले की होसादुर्ग तहसील के कल्केरे गांव निवासी एक

व्यक्ति ने पुत्री का अंतरजातीय विवाह होने पर सरकार से प्राप्त होने वाली तीन लाख रुपए सब्सिडी के लिए समाज कल्याण विभाग में अर्जी दाखिल की थी। विभाग के सहायक निदेशक मंजुनाथ ने 15 हजार रुपए रिश्वत मांगी। उसे 10 हजार रुपए लेते समय पकड़ा गया। होसादुर्ग ग्रामीण पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया।
विजयापुर जिले सदाशिव नगर निवासी एक उद्योगपति ने पत्नी के नाम जिला औद्योगिक केंद्र से कर्नाटक औद्योगिक क्षेत्र विकास बोर्ड के अंंतर्गत नंदी एग्रो फूड इंडस्ट्रीज को संगना गौड़ा से खरीदी के लिए करार किया था। इस कारखाने के लिए सरकार से 20.87 लाख रुपए जारी हुए थे। इस राशि को रोकने के लिए जिला औद्योगिक केन्द्र के संयुक्त निदशक विजय कुमार ने बैंक को पत्र लिखा था।

विजय कुमार ने इस आदेश को वापस लेने के लिए 1.46 लाख रुपए रिश्वत की मांग की। एसीबी अधिकारियों ने उद्योगपति से रिश्वत लेते समय विजय कुमार को गिरफ्तार कर नकद 1.46 लाख रुपए जब्त किए। विजयापुर पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया है।

Santosh kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned