वीभत्स : दिन भर चिपका रहता था स्मार्ट फोन से, रोकने पर पिता के टुकड़े-टुकड़े किए

  • स्मार्ट फोन के ज्यादा इस्तेमाल ने युवा पीढ़ी को बीमार और मानसिक विक्षुब्धता का शिकार बना दिया है। चिड़चिड़ापन और हद से ज्यादा गुस्सा ऐसे युवाओं में घर कर रहा है...

By: Ram Naresh Gautam

Updated: 09 Sep 2019, 07:01 PM IST

बेंगलूरु. स्मार्ट फोन (Smart Phone) के ज्यादा इस्तेमाल ने युवा पीढ़ी को बीमार और मानसिक विक्षुब्धता का शिकार बना दिया है। चिड़चिड़ापन और हद से ज्यादा गुस्सा ऐसे युवाओं में घर कर रहा है।

स्मार्ट फोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से रोकने पर एक युवक ने अपने पिता को मौत के घाट उतार दिया। इतना ही नहीं उसने हत्या करने के बाद शव के कई टुकड़े कर दिए।

यह वारदात बेलगावी शहर के बाहरी क्षेत्र में काकती गांव की है। पुलिस मुख्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक शंकरप्पा कंबार (60) सेवानिवृत्त पुलिस उप निरीक्षक था।

उसका पुत्र रघुवीर (25) हमेशा मोबाइल पर व्यस्त रहता था। शंकरप्पा उसे अक्सर मोबाइल का कम प्रयोग करने की नसीहत देता था।

इसी बात पर पिता-पुत्र के बीच कई बार झगड़ा हुआ। झुंझलाहट में रघुवीर ने पड़ोसियों के घरों पर पथराव भी किया। पड़ोसियों की शिकायत पर पुलिस ने रघुवीर और उसे माता-पिता को पुलिस थाने बुलाकर समझाइश दी थी।

रघुवीर रविवार को देर रात तक मोबाइल फोन पर गेम खेल रहा था, तभी शंकरप्पा ने फोन छीन लिया। सोमवार तड़के रघुवीर ने तलवार से शंकरप्पा की गर्दन पर वार कर हत्या कर दी। फिर शव के टुकड़े-टुकड़े कर दिए।

रघुवीर की मां ने सहायता के लिए शोर मचाया। लोगों ने बाहर से घर का दरवाजा बंद कर पुलिस को सूचना दे दी।

काकती पुलिस थाने के पुलिस निरीक्षक श्रीशैल कौजलगी ने मौके पर पहुंच कर आरोपी को गिरफ्तार किया।

Ram Naresh Gautam Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned