LDC Exam 2018 : संभाग में किए परीक्षा केन्द्र तो उपस्थिति में लगा ‘हाई-जम्प’, परीक्षार्थी 30 फीसदी अधिक पहुंचे

LDC Exam 2018 : संभाग में किए परीक्षा केन्द्र तो उपस्थिति में लगा ‘हाई-जम्प’, परीक्षार्थी 30 फीसदी अधिक पहुंचे

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 10 2018 11:44:54 AM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा. राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड की ओर से लिपिक/ कनिष्ठ सहायक संयुक्त भर्ती परीक्षा के तीसरे चरण में अभ्यर्थियों को गृह जिले अनुसार संभाग में ही परीक्षा केन्द्र आवंटित किए गए तो उपस्थिति में भी ‘हाई-जम्प’ लगा। रविवार को बांसवाड़ा जिले में 16 केन्द्रों पर आयोजित परीक्षा के लिए कुल 5996 परीक्षार्थी पंजीकृत किए गए थे, जिसमें से प्रथम सत्र सुबह 8 से 11 बजे तक 4447 तथा द्वितीय सत्र अपराह्न 2 से 5 बजे तक 4427 परीक्षार्थी उपस्थित हुए। उपस्थिति की प्रतिशत 74.74 रहा, जबकि गत दो चरणों में हुई परीक्षा में उपस्थिति करीब 43 से 45 प्रतिशत रही थी। ऐसे में उपस्थिति में करीब 30 प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई। उल्लेखनीय है कि करीब 11400 पदों के लिए यह परीक्षा चार चरणों में आयोजित की जा रही है। परीक्षा का अंतिम चरण 16 सितम्बर को पूरा होगा।

पत्रिका ने उठाया था मुद्दा
परीक्षार्थियों को गृह जिले से 500 से 600 किलोमीटर दूर जिलों में परीक्षा केन्द्र आवंटित किए जाने से आर्थिक समस्या तथा आने-जाने में परेशनी सहित अन्य कारणों के चलते कई अभ्यर्थी परीक्षा गत चरण में आयोजित केन्द्रों तक नहीं पहुंच सके। इस पर, राजस्थान पत्रिका की ओर से प्रकाशित समाचार एवं टिप्पणी में इस पर सवाल उठाए गए। साथ ही इसमें केन्द्र बदलने की आवश्यकता है तो संभाग में ही अदल-बदल का सुझाव भी दिया गया था। इसके बाद तीसरे चरण से ही बोर्ड की ओर से इसमें बदलाव किया गया और संभागीय मुख्यालय पर ही परीक्षा केन्द्र आवंटित किए गए हैं, जिससे हजारों अभ्यार्थियों की दौड़ थमी और परीक्षा में उपस्थिति की प्रतिशत भी बढ़ा।

दस्तावेजों का सत्यापन आज से
बांसवाड़ा. तृतीय श्रेणी शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 में लेवल टू में चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन 10 से 16 सितंबर तक किय जाएगा। जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि अभ्यर्थियें को रीट व अन्य शैक्षणिक प्रमाण पत्र, विशेष मूल निवास प्रमाण पत्र सहित अन्य दस्तावेजों की स्वयं की ओर से प्रमाणित की गई फोटो प्रति तथा मूल दस्तावेज लेकर उपस्थित होना होगा। उन्होंने ताय िक अंगे्रजी व सामान्य शिक्षकों के दस्तावेजों का सत्यापन 10 व 11 को, विज्ञान व गणित सामान्य शिक्षकों का सत्यापन 12 व 13 को होगा। सामाजिक अध्ययन सामान्य शिक्षक के 14, हिन्दी सामान्य के 15 तथा उर्दू व विशेष शिक्षकों के दस्तावेजों का सत्यापन 16 सितंबर को होगा।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned