बांसवाड़ा : सरकार ने शुरू की ‘दिल विदाउट बिल’ योजना, अब दिल के रोगों से पीडि़त गरीब बच्चों का होगा मुफ्त उपचार

बांसवाड़ा : सरकार ने शुरू की ‘दिल विदाउट बिल’ योजना, अब दिल के रोगों से पीडि़त गरीब बच्चों का होगा मुफ्त उपचार

Varun Kumar Bhatt | Updated: 14 Jun 2019, 04:07:19 PM (IST) Banswara, Banswara, Rajasthan, India

-1 से 18 साल के बच्चे का हो सकेगा उपचार
-राजकोट के सत्यसाईं हॉस्पीटल से करार

बांसवाड़ा. दिल की बीमारी से पीडि़त गरीब बच्चों का अब निशुल्क उपचार होगा। राज्य सरकार ने दिल विदाउट बिल योजना शुरू की है, जिसके तहत आर्थिक दृष्टि से कमजोर परिवारों के 1 से 18 वर्ष के बच्चों का इलाज हो सकेगा। योजन तत्काल प्रभाव से लागू हो गई है।

सरकार ने किया करार
बच्चों को उपचार देने के लिए सरकार ने राजकोट के सत्य साईं बाबा हॉस्पीटल से करार किया है। ऑपरेशन, उपचार, दवा एवं अन्य कई चीजें निशुल्क होंगी। इसके साथ पीडि़त और अटेंडेंट के राजकोट आने जाने का खर्च भी राज्य सरकार वहन करेगी।

Video : चौथी कक्षा से थामा योग का साथ और जयेश बन गया ‘रबरमैन’, हैरतअंगेज योग क्रियाएं देखकर आप भी बन जाएंगे इसके फेन

हर जिले में लगेंगे शिविर
प्रत्येक जिले में चिकित्सा विभाग शिविर लगाएगा,जिनमें दिल के रोग से पीडि़त बच्चों को चिन्हित किया जाएगा। इसमें हृदय की जन्मजात बीमारी का भी उपचार मिल सकेगा। खासतौर एट्रियल सेप्टल डिफेक्ट (वॉल्व खराब होने की बीमारी), मेंटीक्यूलर सेप्टल डिफेक्ट, पेसमेकर की जरूरत वाले बच्चों की संख्या अधिक रहती है।

चार लाख तक खर्च
बच्चां में हृदय रोगों के उपचार में डेढ़ लाख से चार लाख रुपए तक खर्च हो जाते हैं। इसके अलावा कई बड़े अस्पतालों तक में उपचार की सुविधा नहीं है। ऐसे में इस नई सुविधा से सभी को राहत मिलेगी।

Show More

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned