REET : सोने-चांदी की चेन हो या ब्रांडेड घडिय़ा, परीक्षा में पहनकर आए तो सब निकालने पड़ेंगे केंद्र के बाहर

परीक्षा केंद्र में प्रवेश के पहले होगी गहन जांच

By: Ashish vajpayee

Published: 10 Feb 2018, 09:57 PM IST

बांसवाड़ा. राजस्थान अध्यापक पात्रता परीक्षा 2017 में सम्मिलित होने वाले परीक्षार्थियों को परीक्षा कक्ष में प्रवेश के पहले ही गहन जांच की परीक्षा से गुजरना होगा। परीक्षार्थी न कलाई पर घड़ी पहन सकेंगे, न ही चेन, अंगूठी, लॉकेट और कान के टॉप्स। परीक्षार्थियों को यह सब सामग्री परीक्षा केंद्र के बाहर ही निकालकर रखनी होगी। परीक्षार्थी पर्स, हैंडबैग या किसी प्रकार की डायरी या किसी भी प्रकार का इलेक्ट्रॉनिक उपकरण साथ नहीं रख सकेंगे। रीट समन्वयक की ओर से इस बारे में सभी जिला परीक्षा समन्वयकों को पाबंद किया गया है।

कड़े रहेंगे सुरक्षा प्रबंध

रीट परीक्षा केंद्र पर कड़े सुरक्षा प्रबंध रहेंगे। परीक्षा केंद्र पर पुलिसकर्मी, महिला पुलिसकर्मी व होमगार्ड के जवान नियुक्त किए जाएंगे। परीक्षा के दौरान परीक्षार्थी की सभी गतिविधियां भी सीसीटीवी कैमरा, जैमर और वीडियोग्राफर की जद में रहेंगी। अनुचित साधनों का प्रयोग करने पर राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा अधिनियम के तहत तीन वर्ष का कारावास, दो साल की सजा से दंडित किया जा सकेगा। परीक्षार्थी की वर्तमान परीक्षा निरस्त कर दी जाएगी, वहीं उसे एक या उससे अधिक वर्षों के लिए परीक्षा में शामिल होने पर भी प्रतिबंधित किया जा सकेगा।

11 केंद्र संवेदनशील

जिले में रीट 74 केंद्रों पर होगी। इनमें 11 केंद्रों को संवेदनशील माना है। यहां सीसीटीवी कैमरे से निगरानी की जाएगी। द्वितीय स्तर कक्षा छठी से आठवीं तक की परीक्षा सुबह दस से दोपहर साढ़े 12 तथा प्रथम स्तर कक्षा पहली से पांचवीं तक की परीक्षा दोपहर ढाई से शाम पांच बजे तक होगी। 14 केंद्रों पर शाम को परीक्षा होगी। सुबह के सत्र में 24510 परीक्षार्थी बैठेंगे, वहीं शाम के सत्र में छह हजार 752 परीक्षा सम्मिलित होंगे।

सामाजिक स्तर पर तैयारियां

इधर, परीक्षा को देखते हुए विभिन्न समाजों की ओर से परीक्षार्थियों के ठहरने आदि की व्यवस्थाओं को लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। उदयपुर , डूंगरपुर, प्रतापगढ़ से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए समाजों ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित नोहरा, धर्मशाला, छात्रावास आदि में ठहराने की तैयारी की है। भट्टमेवाड़ा ब्राह्मण समाज समिति परिसर अध्यक्ष देवकीनंदन जोशी ने कहा कि यदि कोई परीक्षार्थी समाज के नोहरे में ठहरना चाहे तो किसी के लिए मनाही नहीं है। वहीं चौबीसा ब्राह्मण समाज के अध्यक्ष सुधीर चौबीसा ने कहा कि डूंगरपुर, उदयपुर से आने वाले परीक्षार्थियों के लिए समाज के नोहरे और नृसिंह भवन में आवश्यकतानुसार व्यवस्थाएं की जाएंगी। सहस्त्र औदिच्य ब्राह्मण समाज शिक्षा समिति के अध्यक्ष जमनालाल भट्ट ने भी कहा कि गत वर्ष भी समिति की ओर से व्यवस्थाएं की गई थी और इस बार भी इसके इंतजामात किए जा रहे हैं। बांसवाड़ा के परीक्षार्थियों के लिए उदयपुर के सवीना में व्यवस्था की गई है।

Show More
Ashish vajpayee
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned