बांसवाड़ा तिहरा हत्याकांड : एमजी अस्पताल में दिनदहाड़े पिता-पुत्रों की हत्या के आरोपी पुलिस रिमाण्ड पर, पूछताछ जारी

बांसवाड़ा तिहरा हत्याकांड : एमजी अस्पताल में दिनदहाड़े पिता-पुत्रों की हत्या के आरोपी पुलिस रिमाण्ड पर, पूछताछ जारी

Ashish vajpayee | Publish: Sep, 10 2018 01:29:10 PM (IST) Banswara, Rajasthan, India

बांसवाड़ा तिहरा हत्याकांड : एमजी अस्पताल में दिनदहाड़े पिता-पुत्रों की हत्या के आरोपी पुलिस रिमाण्ड पर, पूछताछ जारी
बांसवाड़ा. शहर के एमजी चिकित्सालय परिसर में तिहरे हत्याकांड के आरोपी पिता-पुत्र सहित चार जनों को पुलिस ने रविवार को रिमाण्ड अवधि समाप्त होने पर न्यायाधीश के समक्ष पेश किया, जहां से उन्हें 12 सितम्बर तक और पुलिस रिमाण्ड पर रखने के आदेश दिए। आरोपी पन्नालाल सरगड़ा, उसके बेटे नयन व भाई के लडक़े अजय एवं नरेश को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार किया था। गत एक सितम्बर को जमीन विवाद को लेकर इन्द्रा कॉलोनी निवासी शब्बीर पुत्र सिकंदर एवं उसके बेटे शरीफ तथा सईद पर पन्ना लाल सरगड़ा, उसके पुत्र नयन, भतीजे अजय एवं नरेश ने महात्मा गांधी अस्पताल परिसर में धारदार हथियार व सरिये से हमला कर दिया था। जिससे तीनों की मौत हो गई थी। इसके बाद सभी आरोपी फरार हो गए जिन्हें पुलिस ने गत गुरुवार को चित्तौडगढ़़ के मण्डफिया से गिरफ्तार किया था।

गिरने से सिपाही की मौत
बांसवाड़ा. शहर पुलिस लाइन में ब्रेन हेमरेज से एक सिपाही की मौत हो गई। बताया जा रहा है कि सिपाही तीन दिन पहले पुलिस लाइन में अचानक गिरकर बेहोश हो गया था। जिसे उपचार के लिए उदयपुर और बाद में अहमदाबाद ले जाया गया। पुलिस अधीक्षक कालू राम रावत ने बताया कि पुलिस लाइन में तैनात सिपाही बागीदौरा के खोखरिया निवासी कांति लाल (40) पुत्र कचरू शुक्रवार को पुलिस लाइन में अचानक गिरकर बेहोश हो गया था। जिसे उपचार के लिए महात्मा गांधी चिकित्सालय लाया गया जहां से उसे उदयपुर के लिए रैफर कर दिया गया। जहां से उसे अहमदाबाद ले जाया गया। वहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया। शव को वापस बांसवाड़ा लाया गया जहां पर रविवार को पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों को सौंप दिया गया। पुलिस लाइन में इस तरह का यह पहला मामला है जब किसी सिपाही की बीमारी की वजह से मौत हो गई हो।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned