लॉकडाउन में भांजा अपनी मामी से लेता था पैसे, एक दिन नहीं मिले तो उसने बनाए शारीरिक संबंध, फिर दो लड़कियों के साथ उनको भी...

महिला का पति कुवैत में रहता है और डेढ़ साल पहले घर आया था।

बाराबंकी. जिले में हुई एक महिला और उसकी दो बच्चियों की निर्मम हत्या ने पुलिस के भी रोंगटे खड़े कर दिए थे। हालत देखने से ही पता चल रहा था कि महिला के साथ रेप किया गया है और फिर उसकी हत्या की गई है। पुलिस का शक सही निकला और कुछ ऐसा ही खुलासा कर आरोपी को जेल भेजने का काम किया है। पुलिस की मानें तो आरोपी कोई और नहीं बल्कि मृतका का भांजा है और लॉकडाउन में आर्थिक स्थिति से परेशान भांजा शफीक अक्सर सगी मामी से पैसे मांगने आया करता था। उस दिन जब उसे पैसे नहीं मिले तो उसने सोती हुई अपनी मामी पर हमला बोल दिया और अचेत हुई मामी के साथ पहले दुष्कर्म किया और फिर उसकी और उसकी दो बच्चियों की ईंच से कुचलकर हत्या कर दी।

रिश्ते हुए शर्मसार

रिश्ते को शर्मसार कर देने वाला यह मामला बाराबंकी जनपद के सुबेहा थाना क्षेत्र के लोदीपुरवा गांव का है। जहां घर की छत पर महिला जिन्नतुल और उसकी बच्ची का शव मिला था। जबकि दूसरी बच्ची गम्भीर हालत में घायल मिली थी। इस सनसनीखेज ट्रिपल मर्डर से पूरा पुलिस महकमा दंग रह गया था। सूचना पर पुलिस अधीक्षक समेत पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। मौका-ए-वारदात देखने से ही यह लग रहा था कि महिला के साथ पहले रेप किया गया है और फिर उसकी और उसकी बच्चियों की हत्या कर दी गयी है। इस वारदात का पुलिस ने अब जो खुलासा किया उसका किसी को अंदाजा भी नहीं था। पुलिस ने इस वारदात के पीछे असली मुजरिम महिला के भांजे शफीक को ही माना और उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

लॉकडाउन के चलते थी आर्थिक तंगी

आरोपी भांजे शफीक ने पुलिस को बताया कि वह लखनऊ में गारा-मिट्टी का काम करता है। लॉकडाउन के चलते सारा काम बंद हो गया जिससे उसकी आर्थिक स्थिति बिगड़ गई। दो महीने पहले उसने मामी से 400 रुपए मांगे था जो उसे मिल गए थे। घटना वाले दिन फिर मामी से पैसे मांगने गया तो उन्होंने भगा दिया। जो उसे बर्दाश्त नहीं हुआ और आधी रात में घर में घुसकर मामी को ईंट से कुचलकर घायल कर दिया फिर उसी हालत में उनके साथ दुराचार किया।

पुलिस ने किया खुलासा

इस मामले में बाराबंकी के पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अरविन्द चतुर्वेदी ने बताया कि महिला का पति कुवैत में रहता है। डेढ़ वर्ष पूर्व जब वह यहां आया तो उसने अपने पक्के मकान का निर्माण भी करवाया था। यह महिला अपने मायके में ही रहती थी और कभी-कभी ही वह यहां आती थी। इस महिला का एक भांजा शफीक भी है जो इस लॉक डाउन के दौरान आर्थिक तंगी में आ गया था। वह अक्सर अपनी मामी के पास पैसा मांगने आता था और उसे पैसा मिल भी जाता था। वह घटना से एक दिन पहले भी आया था और अपनी मामी से पैसे की मांग की थी लेकिन इस महिला ने पैसा न होने की बात कह कर पैसा देने से इनकार कर दिया था और जलपान, खाना आदि की औपचारिकता पूरी कर उसे वापस भेज दिया था। जिससे यह काफी चिढ़ गया और रात को सोते समय मामी पर हमला बोल दिया। हमले में जब वह अचेत हो गयी तब उसने उसके साथ शारीरिक सम्बन्ध बनाये और फिर उसकी और उसके साथ उनकी बेटी की हत्या कर दी। एक बच्ची को गम्भीर चोट पहुंचायी थी, जिसकी इलाज के दौरान मृत्यु हो गयी है। पुलिस की पूछताछ में आरोपी भांजे ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned