अधिकारी-कर्मचारियों का बना है टोटा  ,कनिष्ट अभियंता अटरू में दे रही हैं सेवाएं एक हेल्पर के भरोसे 1807 उपभोक्ता

Shivbhan Sharan Singh

Publish: Jun, 14 2018 05:32:19 PM (IST)

Baran, Rajasthan, India
अधिकारी-कर्मचारियों का बना है टोटा  ,कनिष्ट अभियंता अटरू में दे रही हैं सेवाएं एक हेल्पर के भरोसे 1807 उपभोक्ता

कवाई. यहां जलदाय विभाग कार्यालय में अधिकारियों व कर्मचारियों के रिक्त पदों के कारण जलापूर्ति व्यवस्था बाधित हो रही है।

कवाई. यहां जलदाय विभाग कार्यालय में अधिकारियों व कर्मचारियों के रिक्त पदों के कारण जलापूर्ति व्यवस्था बाधित हो रही है। यहां कार्यरत कनिष्ट अभियंता करिश्मा जंगम गत तीन माह से अटरू के रिक्त पद पर सेवा दे रही है। ऐसे में क्षेत्र के कुछ इलाकों में गत 3 माह से 2-3 दिन में एक बार जलापूर्ति हो रही है। कस्बे में विभाग के कार्यालय में मात्र 3 कर्मचारी कार्यरत है। इनमें एक कनिष्ठ अभियंता, एक हेल्पर एवं एक रेवेन्यू में कार्यरत है। ऐसे मे 1807 उपभोक्ताओं की जिम्मेदारी मात्र एक हेल्पर महेंद्र शर्मा पर है। पिछले दिनों कस्बे में लगे शिविर में लोगों ने जल समस्या के लिए कलक्टर के समक्ष शिकायत दर्ज कराई व नए कनेक्शन के लिए 7-8 फाइल जमा करवाई हुई है। तेजाजी चौक स्थित पानी की टंकी को भरने के लिए श्मशान घाट से आने वाली मेन लाइन पर नृसिंह चौक में मुख्य वॉल लगा हुआ है। जिसे 15 दिनों से अज्ञात व्यक्तियों द्वारा रात्रि में खोल दिया जाता है। ऐसे में टंकी में पानी नहीं भरने से समय पर जलापूर्ति नहीं हो पाती। कस्बे में 1807 कनेक्शन होने के बाद भी एक ही टंकी है। जिसकी क्षमता 1,25,000 लीटर क्षमता की है। अधिकारी के नहीं होने से यहां जलापूर्ति व्यवस्था बिगड़ी हुई है।
& -कनिष्ट अभियंता को अटरू का चार्ज भी दिया हुआ है। जब तक नई नियुक्ति नहीं होती उन्हें तीन दिन कवाई कार्यालय में बैठने के लिए आदेशित किया जाएगा।
रामकिशन भारती, अतिरिक्त मुख्य अभियंता, संभागीय अधिकारी क्षेत्र कोटा
& -कवाई कार्यालय में हेल्पर महेन्द्र शर्मा है। लाइन में पानी का प्रेशर कम है। ऐसे में नए कनेक्शन जारी नहीं कर सकते।
जमनालाल यादव, सहायक अभियंता अटरू
हेल्पर महेंद्र शर्मा का कहना है कि सप्लाई समय पर नहीं होने से उपभोक्ता समस्या लेकर आफिस आते है। यहां सहायक अभियंता नहीं होने के कारण उन्हें क्या जवाब दूं। अज्ञात जनों द्वारा कुछ दिनों से लाइन का मुख्य वॉल्व खोल दिया जाता है। ऐसे में टंकी में पानी नहीं भर पाता। इस बारे में कनिष्ट अभियंता को भी फोन पर अवगत करा दिया है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned