बरेली में बुखार से हाहाकार, 27 की मौत, वित्त मंत्री बोले भयावह है स्थिति

बरेली में बुखार से हाहाकार, 27 की मौत, वित्त मंत्री बोले भयावह है स्थिति

Amit Sharma | Publish: Sep, 02 2018 04:30:20 PM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 04:30:21 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

लगातार हो रही मौत के बाद अब स्वास्थ्य महकमा कुम्भकर्णी नींद से जागा है और महकमे ने गांव में कैम्प लगा कर लोगों का इलाज करना शुरू कर दिया है।

बरेली। बारिश के बाद ग्रामीण इलाके के लोगों को बुखार ने अपनी चपेट में ले लिया है। बुखार के कारण पिछले 10 दिनों में 27 लोगों की मौत हो चुकी है। बुखार से सबसे ज्यादा आंवला तहसील के लोग प्रभवित हुए हैं और सबसे ज्यादा यही पर लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा फरीदपुर और बहेड़ी तहसील के गांवों में भी बुखार के कारण मौत के मामले सामने आए है। लगातार हो रही मौत के बाद अब स्वास्थ्य महकमा कुम्भकर्णी नींद से जागा है और महकमे ने गांव में कैम्प लगा कर लोगों का इलाज करना शुरू कर दिया है।

वही बुखार से हुई मौतों के बाद सूबे के वित्त मंत्री और बरेली की कैंट सीट से विधायक राजेश अग्रवाल भी जिला अस्पताल पहुँचे जहां उन्हें घोर लापरवाही नजर आई जिसके कारण वित्त मंत्री ने काफी नाराजगी जताई और पूरी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भेजने की बात कही है।

वित्त मंत्री ने किया अस्पताल का दौरा 

वहीं 27 मौत की सूचना के बाद अस्पताल की व्यवस्थाएं देखने के लिए खुद वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल जिला अस्पताल पहुँचे और उन्होंने यहां पर जो नजारा देखा उससे वो काफी परेशान नजर आए है। जिला अस्पताल में इलाज के नाम पर मरीजों के साथ मजाक किया जा रहा है। एक-एक पलँग पर चार चार मरीज देख वित्त मंत्री ने नाराजगी जताई इसके साथ ही उनको देखते हुए दवा बाँटने वाला कांउटर छोड़ कर ही भाग गया। वित्त मंत्री ने बाद में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि गोरखपुर में इस साल सिर्फ छह मौत हुई है और यहां जो में आकंड़ा सुन रहा हूं वो शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि वो इस मामले की पूरी रिपोर्ट मुख्यमंत्री को भेजने जा रहे है।

कमिश्नर को दिए आदेश 

जिले में फैले बुखार से निपटने के लिए वित्त मंत्री ने कमीश्नर को आदेश जारी किया है। वित्त मंत्री का कहना है कि न सिर्फ बरेली बल्कि मण्डल के चारों जिलों में बुखार के खिलाफ व्यापक अभियान चलाया जाए जिससे इस बीमारी पर जल्द से जल्द काबू पाया जा सके। उन्होंने कहा कि इसके लिए आकस्मिक निधि से धन लिया जा सकता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि इस बारे में वो सांसदों और विधायकों से भी मदद करने की बात कहेंगे।

Ad Block is Banned