जेट एयरवेज से नौकरी जाने के बाद शुरू किया नया सफर, अब दे रहे दूसरों को नौकरी

शुरू किया अपना केटरिंग का काम
आज कई लोगों को दे रहे हैं रोजगार
होटल में नौकरी से की थी करियर की शुरुआत
जेट से हुई थी 22 हजार कर्मचारियों की छुट्टी, 9 ने कर ली थी आत्महत्या

बरेली। जुबेर वारसी जो काम करते थे जानी मानी कंपनी जेट एयरवेज में। आसमान में सफर करने वाले जुबेर को झटका उस समय लगा, जब कंपनी ने 22 हजार कर्मचारियों को अचानक नौकरी से निकाल दिया। नौकरी खोने वाला हर शख्स परेशान था। इनमें से 9 लोगों ने आत्महत्या कर ली। कई लोग दूसरे व्यवसाय की ओर मुड़ने लगे। इस बीच जुबेर ने भी हार नहीं मानी और खुद का केटरिंग का काम शुरू किया। आज जुबेर कई लोगों को रोजगार दे रहे हैं।

इस तरह हुई शुरुआत
जुबेर ने बताया कि 2006 में होटल इंड्रस्टी ज्वाइन की और बरेली से अहमदाबाद गए। जिस होटल में काम करता थे, वो एयरपोर्ट के अंदर था। वहीं से जेट ऐयरवेज, किंग फिशर देखते थे। एग्जाम दिया, क्वालीफाईड हो गया और 2007 में जेट एयरवेज ज्वाइन कर लिया। जुबेर ने बताया कि जेट एक कंपनी नहीं थी, बल्कि एक परिवार था, लेकिन ये नहीं मालूम था, कि कंपनी में 18 से 20 घंटे काम करके कंपनी को आगे बढ़ाने में जो सहभागिता की है, वो कंपनी एक ऐसे मोड पर लाकर खड़ा करेगी, जहां लोग सुसाइड करना शुरू कर देंगे। नौकरी जाने के बाद लोगों की फैमिली से मिला और मन में ठानी, कुछ नया करना है। सोचा कि दूसरे शहर में जाकर जब सफलता मिल सकती है, तो अपने शहर में क्यों नहीं। इसके बाद बरेली से शुरुआत की। ऐसे लोगों को अपने साथ खड़ा किया, जिनके पास काम नहीं था और एक टीम खड़ी कर काम शुरू किया। इसके बाद सफलता मिलती चली गई। जुबेर का कहना है कि डरना नहीं चाहिए। खाना देने वाला भगवान है। यदि आपके पास कोई काम नहीं होगा, तो भूखे नहीं सोएंगे।

Show More
धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned