एडीजी के पास पहुंचा खेलमंत्री चेतन चौहान के नाम से फोन, जांच करायी तो हुआ ये खुलासा

suchita mishra | Publish: Sep, 08 2018 05:00:22 PM (IST) Agra, Uttar Pradesh, India

एडीजी प्रेमप्रकाश को फोन खेलमंत्री ने नहीं एक युवक ने किया था। वो युवक पहले भी तमाम थानों में फोन कर अपनी धौंस जमा चुका है।

बरेली। एडीजी प्रेमप्रकाश को खेलमंत्री चेतन चौहान के नाम से फोन करना बदायूं के एक युवक को महंगा पड़ गया। शक होने पर पुलिस ने जब फोन नम्बर की जांच की तो पता चला कि नम्बर खेल मंत्री का न होकर बदायूं के रहने वाले देवराज का है जिसने एडीजी पर काम करने का दबाव बनाने के लिए खेल मंत्री के नाम से फोन किया था। जांच पड़ताल के बाद बरेली की कोतवाली पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

Must Read - अटल जी की अस्थि विसर्जन के दौरान इस खास मेहमान पर रहीं सबकी निगाहें, पहली बार आईं बटेश्वर

Read it - बदायूं में बुखार से अब तक 99 लोगों की मौत, इन तहसीलों में फैला है जानलेवा बुखार

थानों में भी जमाता है धौंस

सीओ सिटी प्रथम कुलदीप कुमार ने बताया कि बदायूं के बिसौली थाना क्षेत्र के रतनपुर कोठी गांव के रहने वाले देवराज के मामा मनोज का अपने परिवार के सदस्यों से विवाद चल रहा है। उसी मामा की सिफारिश में देवराज ने खेल मंत्री चेतन चौहान बताकर एडीजी को फोन किया और कहा कि जो भी मनोज का काम है वो कर दीजिएगा। लेकिन एडीजी साहब को शक हो गया इसके बाद जांच की गई तो मामला फ्रॉड पाया गया। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है, जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी। सीओ सिटी ने बताया कि ये युवक पहले भी पुलिस पर दबाव बनाने के लिए थानों में फोन कर चुका है।

Must Read - यूपी पुलिस ने पकड़ा वाहन चोर गैंग तो सामने आयी ऐसी हकीकत कि उड़ गए होश

Read it - 'अजातशत्रु अमर रहें, अटल अमर रहें' की गूंज के बीच सीएम योगी ने बटेश्वर में किया अटलजी की अस्थियों का विसर्जन

Read it- सरकारी अस्पताल का इससे बुरा हाल आपने शायद ही कहीं देखा हो

Ad Block is Banned