बाड़मेर : 19.59 लाख का करना है वैक्सीनेशन, अभी दूर तक है जाना, 3.74 लाख को ही लगी है दोनों डोज

-महिलाओं का टीकाकरण हो रहा है कम
-दूसरा टीका लगाने में हो रही देरी
-दोनों डोज का आंकड़ा लक्ष्य से काफी दूर

By: Mahendra Trivedi

Published: 09 Sep 2021, 09:44 PM IST

बाड़मेर. कोरोना से बचाव को लेकर कोविड-19 के टीकाकरण को लेकर जिले में पहाड़ जैसा लक्ष्य है। चिकित्सा विभाग की ओर से कुल 19,59,924 को टीका लगाना है। लेकिन इनमें से अभी तक दोनों डोज केवल 3,74,764 लोगों को ही लगी है। जबकि प्रथम डोज लेने वालों की संख्या 11,94,719 है। वहीं कुल 15,69,160 लोगों का अब तक वैक्सीनेशन हो चुका है। लेकिन देखा जाए तो कम्पलीट वैक्सीनेशन से अभी काफी दूरी है। दोनों डोज लेने वालों की संख्या टारगेट के मुकाबले बहुत ही कम है।
जिले में वैक्सीनेशन की शुरूआत में लोगों को जागरूकता के लिए विभाग को पापड़ बेलने पड़े थे। इसके लिए काफी मेहनत करनी पड़ी थी। लेकिन दूसरी लहर के बाद लोगों को वैक्सीनेशन का फायदा नजर आने पर भीड़ उमडऩे लगी और वैक्सीन कम पड़ गई। इसके बाद जब 18 प्लस का टीकाकरण भी इसमें शामिल हो गया तो मानो केंद्रों पर सुबह से शाम तक लम्बी लाइनों की कतारें लगी।
वैक्सीनेशन में पुरुषों की भागीदारी ज्यादा
जिले में वैक्सीनेशन के 6 सितम्बर तक के आंकड़ों के अनुसार पुरुषों की वैक्सीनेशन में भागीदारी अधिक है। वहीं महिलाएं काफी कम है। देखा जाए तो यह आंकड़ा करीब एक लाख का अंतर बताता है। जिले में कुल 835290 पुुरुष व 733870 महिलाओं का टीकाकरण हुआ है।
टीकाकरण में कम नहीं चुनौतियां
विभाग के अधिकारी बताते हैं कि कोरोना के टीकाकरण में बहुत ज्यादा चुनौतियां है। जिले में दूरस्थ और दुर्गम क्षेत्र है। जहां तक पहुंचना काफी मुश्किल है। वहीं लोगों को अभी भी टीके लिए समझाना पड़ रहा है। कई लोग अभी भी टीका लगवाने से परहेज करते हैं। वहीं गांवों में ढाणियों में आवास होने से ऐसे लोग केंद्र तक नहीं पहुंच पाते है। ऐसे में टीकाकरण करना काफी मुुश्किल भरा काम है। बावजूद चिकित्साकर्मी पूरी शिद्दत से जुटे हैं। कई तो ऐसे भी है जिन्होंने बिना कोई छुट्टी के लगातार काम कर रहे हैं। इनमें दिव्यांग कार्मिक और गर्भवती महिलाएं है, जो अपने काम को प्राथमिकता देते हैं।
दूसरे टीके लिए आ रही है समस्या
पहले और दूसरे टीके में देखा जाए तो काफी बड़ा अंतर है। प्रथम डोज 1194719 लोगों को लग चुकी है। लेकिन दूसरी डोज 374764 को ही लगी है। यह अंतर अभी काफी बड़ा है। इसे पार करना होगा। दूसरी डोज लगने में काफी देरी हो रही है। कई बार तो दूसरी डोज मिल ही नहीं रही है। लोग इसके लिए अलग-अलग सेंटर्स पर भटकते रहते हैं। इसके अंतर का यह भी एक बड़ा कारण है।
टीकाकरण में जुटे हुए हैं
अभी टीका लगाने में जुटे हुए हैं। खासकर गांवों में काफी दिक्कतें है। युवाओं के टीकाकरण में कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन जो लोग बुजुर्ग है, उनके सेंटर तक पहुंचने की खासी समस्या है। युवा वर्ग टीकाकरण को लेकर काफी उत्साहित है।
डॉ. प्रीत मोहिन्दर सिंह, आरसीएचओ बाड़मेर
बाड़मेर : कोविड वैक्सीनेशन
पुुरुष :8,35,290
महिला :7,33,870
कुल : 15,69,160
प्रथम डोज :11,94,719
दूसरी डोज : 3,74,764
(स्रोत : चिकित्सा विभाग...6 सितम्बर तक)

Mahendra Trivedi
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned