छात्राएं बोलीं- छिछोरी हरकत करने के वालों के साथ यह करें आप...

पत्रिका अभियान- अकेली नहीं है 'बहू-बेटियां

By: Ratan Singh Dave

Published: 25 Jun 2018, 05:18 PM IST

बाड़मेर . थारवासी इन दिनों बेटियों की सुरक्षा को लेकर परेशान हंै। गत दिनों हुई दो घटनाओं ने झकझोर कर रख दिया। सीमावर्ती क्षेत्र के ऊनरोड गांव में एक सात साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म के बाद हत्या व शहर में स्कूटी सवार बालिका के साथ सरेआम छेड़छाड़ की घटना के बाद आमजन में गुस्सा है। इन घटनाओं के बाद महिलाओं व बालिकाओं ने पत्रिका के अभियान से जुड़कर कहा कि पुलिस गश्त बढ़ाकर छिछोरी हरकतें करने वालों के खिलाफ सख्ती से पेश आएं। वहीं आमजन भी कहीं बेटियों के साथ कुछ गलत होते देखे तो वे उनका साथ दे तथा बदमाशों को सबक सिखाएं।

यह बोली छात्राएं
बेटियां नहीं सुरक्षित

इन दिनों दो घटनाओं ने बाड़मेर को बदनाम कर दिया है। मासूम के साथ दरिंदगी हुई है। बेटियां सुरक्षित नहीं है। पुलिस-प्रशासन सख्त कदम उठाकर आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाए।- तनुजा चारण, छात्रसंघ अध्यक्ष

पुलिस की लापरवाही

बालिका के साथ रॉय कॉलोनी रोड पर दिनदहाड़े छेड़छाड़ हुई, इसके बाद बालिका ने हिम्मत दिखाते हुए आरोपियों को पकड़ा दिया। इस तरह की घटनाओं के बाद भी पुलिस गश्त की सख्ती नहीं दिख रही। - अमीशा भाटी, छात्रा
मुंहतोड़ जवाब दें

ऐसे छिछोरों को जबाव देने के लिए बेटियां खुद सक्षम बन जाएं तो कोई सामने देखने की हिम्मत नहीं करेगा। दो दिन पहले चौराहे पर कार रुकवाकर बदमाशों को पकड़वाया था, उस तरह बेटियां खुद ऐसी हरकतों का सामना कर मुंहतोड़ जबाव दे।

- सोनू, छात्रा

समाज आगे आए
ऐसी घटनाओं के बाद समाज स्तर पर जागरूकता जरूरी है। बेटियों के साथ छेड़छाड़, दुष्कर्म व हत्या जैसी घटनाएं बढ़ रही हैं। यह मुद्दा समाज के लिए चिंतनीय है। हमें आगे आकर ऐसी घटनाओं का विरोध करना होगा। पुलिस ऐसे मामलों में सख्ती बरते अन्यथा बेटियां अपनी सुरक्षा को लेकर सड़कों पर उतर आएंगी।

- मूली चौधरी, जिलाध्यक्ष, महिला कांग्रेस बाड़मेर

Ratan Singh Dave
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned