छात्रसंघ चुनाव: चुनावों से पहले ही रंग दिया शहर, पढ़िए पूरी खबर

छात्रसंघ चुनाव: चुनावों से पहले ही रंग दिया शहर, पढ़िए पूरी खबर

bhawani singh | Publish: Sep, 03 2018 01:01:12 PM (IST) Barmer, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/barmer-news/

 

बाड़मेर. लगभग एक सप्ताह बाद होने वाले छात्रसंघ चुनाव से पहले ही शहर के चौराहों व सरकारी इमारतों पर इश्तहार लग रहे हैं। देर रात को लोग इमारतों पर बिना किसी इजाजत के पोस्टर लगा रहे है। इससे शहर का सौन्दर्यकरण प्रभावित हो रहा है। बावजूद इसके सम्बधित विभाग की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

 

विभिन्न शहर के केन्द्रीय बस स्टैंड, कन्या महाविद्यालय, पीजी महाविद्यालय, रेलवे स्टेशन, राजकीय चिकित्सालय, अधिकांश चौराहों, ओवरब्रिज, कृषि उपज मंडी, अस्पताल परिसर सहित अन्य सरकारी कार्यालयों व भवनों पर इश्तहार चिपकाए गए हैं। जहां मर्जी वहां पर इश्तहार लगाए जा रहे हैं।

 

नियमों की हो रही अवहेलना
राजस्थान सम्पत्ति विरूपण निवारण अधिनियम 2006 के तहत सरकारी इमारतों, भवनों, स्मारकों, मृर्ति, पब्लिक रोड, खम्भों आदि पर बिना इजाजत के प्रचार सामग्री लगाने पर नगर परिषद की ओर से कार्रवाई की जाती है। जुर्माना वसूलने के साथ सम्बधित पुलिस थाने में सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ एफ आईआर भी दर्ज करवाई जा सकती है।

 

संकेत बोर्डों को भी नहीं छोड़ा
नगर परिषद क्षेत्र व हाइवे पर लगे संकेत बोर्डों पर भी जगह-जगह विभिन्न सामाजिक संगठनों, संस्थाओं, छात्र संगठनों सहित कई होटलों व अस्पतालों के पोस्टर, होर्डिंग लगाए हुए हैं। इनसे बाहर से आने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। संकेत बोर्ड नहीं दिखने से आमजन को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

 

विभाग नहीं है गंभीर
नगर परिषद की ओर से सरकारी सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाने वालों पर कार्रवाई नहीं होने पर प्रतिदिन शहर में इश्तहारों की तादाद बढ़ रही है। इश्तहार लगाने वालों के हौसले बुलंद होते जा रहे हंै। जुर्माना नहीं वसूलने पर राजस्व नुकसान हो रहा है।


टीम कर रही है निगरानी
सरकारी सम्पत्तियों पर पोस्टर व होर्डिंग लगाना गलत है। बिना इजाजत के लगाए गए पोस्टर व होर्डिंग की निगरानी के लिए टीम बनी हुई है। पोस्टरों को हटाने के साथ चालान व अभियोजन की कार्रवाई की जा रही है।- पंकज मंगल, आयुक्त, नगर परिषद, बाड़मेर

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned