डोडा पोस्त व अवैध शराब तस्करों के बीच गैंगवार की घटनाओं के साथ ही अब बजरी माफिया के बीच भी गैंगवार की आशंका

डोडा पोस्त व अवैध शराब तस्करों के बीच गैंगवार की घटनाओं के साथ ही अब बजरी माफिया के बीच भी गैंगवार की आशंका

bhawani singh | Publish: Sep, 16 2018 05:40:16 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 05:40:17 PM (IST) Barmer, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/barmer-news/


बालोतरा.
जिले में डोडा पोस्त व अवैध शराब तस्करों के बीच गैंगवार की घटनाओं के साथ ही अब बजरी माफिया के बीच आपसी प्रतिस्पर्धा बढऩे से इनमें भी गैंगवार की आशंका है। बजरी माफियाओं के बीच अधिक कमाई के चक्कर में मारपीट व एक दूसरे की गाडिय़ां रुकवा चालकों के साथ छीना झपटी आम बात है। इन माफियाओं में कई कुख्यात अपराधी भी शामिल हैं।

 

लूणी नदी के प्रवाह क्षेत्र में रामपुरा से लेकर गांधव तक बेरोकटोक बजरी का अवैध खनन हो रहा है। कम रिस्क व अधिक कमाई के चलते कई कुख्यात अपराधियों ने इस काले कारोबार में घुसपैठ कर ली है। इनके बीच आपसी प्रतिस्पर्धा भी धीरे-धीरे बढऩे लगी है। उन्होंने बजरी कारोबार चलाने के लिए कई गुर्गों को सक्रिय कर रखा है। हर दो-तीन किलोमीटर पर नदी किनारे बजरी माफियाओं ने बजरी लोडिंग के अवैध नाके स्थापित कर रखे हैं। यहां नदी के अंदर से बजरी भरने वाले ट्रक से पांच से सात हजार रुपए तक वसूली की जाती है। अधिकांश नाकों पर आपराधिक प्रवृत्ति के लोगों का बोलबाला है।

यहां होता अवैध खनन
जालोर खनि विभाग के अंतर्गत रामपुरा, गोदों का बाड़ा, महेश नगर, खरंटिया, मजल, चारणों का बाड़ा, भलरो का बाड़ा, रानीदेशीपुरा, भानावास, समदड़ी, सिलोर, पारलू, कनाना, सराणा, बिठूजा, जसोल, तिलवाड़ा, पांच पुलिया गोल सोढा, सोढ़ों की ढ़ाणी, मेकरणा, चांदेसरा, सोमेसरा, नौसर समेत कई गांवों में अवैध खनन हो रहा है।

 

बेखबर या मोड़ रहे मुंह
बजरी के अवैध कारोबार में बदमाशों के शामिल होने व इनके बीच विवादों से प्रशासन व पुलिस के आला अधिकारी बेखबर हैं या फिर जानबूझ मुंह मोड़ रहे हैं। क्षेत्र में पिछले काफी समय में बजरी माफियाओं के विरुद्ध कोई बड़ी कार्रवाई भी नही हुई।

पुलिस सक्रिय अवैध बजरी खनन के विरुद्ध लगातार पुलिस कार्रवाई कर रही है। बदमाशों का पता करवा जल्द कार्रवाई करवाएंगे।
- कैलाशदान रतनू, एएसपी बालोतरा

 

यहां हुए थे विवाद
कनाना गांव में कई बार बजरी माफिया से जुड़े लोगों के बीच विवाद हुए। अब सराणा गांव में तीन-चार स्थानों पर बजरी के अवैध कारोबार में कई बड़े बदमाश लगे हुए है। कलावा गांव में चार माह पूर्व बजरी माफियाओं के बीच विवाद हुआ था.

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned