शहरी कार्मिकों को मिलेगा अवकाश, कर पाएंगे मताधिकार का उपयोग

गांवों में अवकाश नहीं होने के बावजूद मत देने वाले कार्मिक को मिलेगी छुट्टी
- बालोतरा, बाड़मेर के करीब पांच हजार कर्मचारी कर सकेंगे मतदान

-

बाड़मेर. शहर की सरकार चुनने में वे कार्मिक जो गांवों में ड्यूटी दे रहे हैं, मताधिकार का उपयोग कर सकेंगे। मतदान के दिन उनको यह अधिकार है कि वे अपने मत का प्रयाग करें और अवकाश भी मिले। इसके लिए यह जरूरी है कि उनको यह सिद्ध करना होगा कि उन्होंने मत का प्रयोग किया। इसके लिए अंगुली पर स्याही के साथ पर्ची मुख्य आधार होगी। इसके चलते बालोतरा व बाड़मेर नगरपरिषद क्षेत्र के करीब पांच हजार कार्मिकों को मतदान करने का अधिकार मिलेगा।

नगरपरिषद बालोतरा व बाड़मेर में 16 नवम्बर को मतदान है। इस दिन बालोतरा में 45 व बाड़मेर में 54 वार्ड में मतदान होगा। बाड़मेर में 65081 व बालोतरा में 55070 मतदाता है। इनमें से करीब पांच हजार सरकारी कार्मिक है, जो आसपास के गांवों या अन्य जगह लगे हुए हैं। इनको अभी तक इस बात को लेकर संशय है कि क्या वे मतदान कर सकेंगे या नहीं। क्योंकि शहरी क्षेत्र में जिला निर्वाचन अधिकारी ने सार्वजनिक अवकाश घोषित कर रखा है जबकि गांवों में उस दिन छुट्टी नहीं है। एेसे में उनको गांवों में ड्यूटी देनी है, इस पर वे मतदान कैसे कर पाएंगे। इसको लेकर निर्वाचन आयोग के आदेश स्पष्ट है कि जो कार्मिक मतदान करेंगे उनको अवकाश का लाभ देय होगा। इसका सबूत उन्हें पेश करना होगा जो अंगुली पर स्याही का निशान, पर्ची आदि हो सकता है। इसके बाद हस्ताक्षर कॉलम में अवकाश लिख कर शहरी मतदाता को मिले अवकाश का लाभ उठा सकेंगे।
करीब पांच हजार कार्मिक होंगे लाभान्वित- गौरतलब है कि बालोतरा व बाड़मेर के आसपास करीब पांच हजार कार्मिक एेसे हैं, जो गांवों में शिक्षक, पटवारी, ग्रामसेवक या अन्य विभाग में अधिकारी, कार्मिक हैं। इनको इस नियम का फायदा मिलेगा और मतदान कर सकेंगे।

असमंजस में कार्मिक- सरकारी कार्मिक लगने के बाद पहली बार शहर में चुनाव है। मेरा नाम यहां की मतदाता सूची में है। मैं असमंजस में हूं कि क्या मतदान कर पाऊंगा। स्थिति स्पष्ट होनी चाहिए।- मोहित दवे, शिक्षक
मतदान का मिलेगा अधिकार- शहरी कार्मिकों को गांवों में ड्यूटी के बावजूद मताधिकार का प्रयोग देने से कार्मिकों को फायदा होगा। कार्मिक अधिक से अधिक मतदान कर निर्वाचन आयोग की मंशा के अनुरूप शत-प्रतिशत मतदान में योगदान दें।- शेरसिंह भूरटिया, कर्मचारी नेता

प्रचार-प्रसार की जरूरत- सभी कर्मचारियों को नियम की जानकारी नहीं है। निर्वाचन विभाग आहरण वितरण अधिकारी के मार्फत इसका प्रचार-प्रसार करें, ताकि सभी कार्मिक मतदान कर शत-प्रतिशत मतदान में योगदान दे सकें।- घमंडाराम कड़वासरा, शिक्षक नेता
कार्मिकों को मिलेगा अवकाश

- शहरी क्षेत्र के कर्मचारी जो मतदाता है, भले ही गांव में नौकरी करते हैं, मतदान दिवस को उन्हें अवकाश मिलेगा। इसके लिए जरूरी है कि मतदान करने का सबूत पेश करें।

- नीरज मिश्र, सहायक निर्वाचन अधिकारी एवं एसडीएम, बाड़मेर

Dilip dave
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned