राष्ट्रभक्ति का अनूठा उदाहरण हैं वीर दुर्गादास

राष्ट्रभक्ति का अनूठा उदाहरण हैं वीर दुर्गादास
Veer Durgadas is a unique example of patriotism

Moola Ram Choudhary | Updated: 16 Aug 2019, 04:51:00 PM (IST) Barmer, Barmer, Rajasthan, India

स्थानीय मल्लीनाथ राजपूत छात्रावास स्टेशन रोड में बुधवार को मारवाड़ के वीर दुर्गादास राठौड़ की जयंती मनाई

बाड़मेर. स्थानीय मल्लीनाथ राजपूत छात्रावास स्टेशन रोड में बुधवार को मारवाड़ के वीर दुर्गादास राठौड़ की जयंती मनाई। इस दौरान युवाओं को त्याग, बलिदान और राष्ट्रभक्ति का संदेश दिया।

कार्यक्रम में शिक्षाविद् कमलसिंह चूली ने कहा कि वीर दुर्गादास ने समाज सुधार में अहम योगदान दिया। उनकी राष्ट्रभक्ति का अनूठा उदाहरण है।

उन्होंने वीर दुर्गादास को युवा आदर्श का प्रतीक बताते हुए उनके जीवन चरित्र से प्रेरणा लेने की अपील की।
क्षत्रिय युवक संघ के स्वयंसेवक दीपसिंह रणधा ने गीत प्रस्तुत किया। छगनसिंह लूणू ने 'क्षिप्रा के तीरÓ कहानी का वाचन किया।

इस मौके पर देवीसिंह माडपुरा, प्रकाशसिंह भुरटिया, समदरसिंह देदूसर, आजादसिंह शिवकर, कमलसिंह गेहूं सहित विद्यार्थी मौजूद रहे। संचालन प्रांत प्रमुख महिपालसिंह चूली ने किया।

ये भी पढ़े...

श्रेष्ठ सभा पुरस्कार से सम्मानित

जसोल. श्री जैन श्वेताम्बर तेरापंथ महासभा ने बेंगलुरू में आयोजित राष्ट्रीय अधिवेशन में सर्वाधिक आध्यात्मिक गतिविधियां संचालित करने के लिए तेरापंथी सभा जसोल को प्रथम श्रेष्ठ सभा पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

जसोल सहमंत्री कांतिलाल ढेलडिय़ा ने यह जानकारी देते हुए कहा कि आचार्य महाश्रमण के सान्निध्य में आयोजित कार्यक्रम में जसोल सभा अध्यक्ष डूंगरचंद सालेचा, मंत्री संपतराज चौपड़ा, उपाध्यक्ष माणकचंद संखलेचा, कोषाध्यक्ष डूंगरचंद वडेरा को सम्मानित किया गया। इस पर जसोल के पदाधिकारियों, सदस्यों ने खुशी जताते हुए बधाई दी।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned