जसोल में जलापूर्ति गड़बड़ाई, महंगा पानी खरीदने को मजबूर कस्बेवासी

गर्मी का मौसम आते ही पेयजल किल्लत

By: Dilip dave

Published: 13 Mar 2018, 10:56 PM IST

 

 

-

बालोतरा. गर्मी की दस्तक के साथ जसोल में बिगड़ी पेयजल व्यवस्था पर रहवासियों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। सप्ताह अंतराल में जलापूर्ति पर रहवासी बूंद-बूंद पानी को मोहताज हो गए हैं। मोल महंगा पानी खरीदकर जरूरतें पूरी कर रहे हैं। कमजोर व गरीब तबके के लोगों को एक-एक मटकी पानी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है।
मार्च के पहले सप्ताह में ही गर्मी का असर बढ़ गया है। गर्मी के बढ़े असर पर अब पानी की मांग भी पहले से अधिक बढ़ गई है। इस पर जसोल में पेयजल आपूर्ति गड़बड़ाने से रहवासियों की परेशानियां बढ़ गई हैं। कस्बे के लोहारों की बस्ती, मनणावास, इलोजी गली, चौपड़ा की वास, अमरपुरा, आजाद चौक, अंबेडकर सर्कल, मुख्य बाजार, नयापुरा आदि बस्तियों व मोहल्लों में जलदाय विभाग की ओर से सप्ताह अंतराल में जलापूर्ति की जा रही है। एक से डेढ़ घंटे की जलापूर्ति पर रहवासियों को दो दिन की जरूरत जितना ही पानी उपलब्ध होता है। इस पर ये बूंद-बूंद पानी की बचत कर चार दिन तक इसका इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इसके बावजूद शेष दिनों के लिए इन्हें पानी को तरसना पड़ता है। इस पर ये महंगा पानी खरीदकर प्यास बुझाते तो जरूरतें पूरी करते हैं। इससे खास से आम परिवारों की दिक्कतें बढ़ गई है। गरीब व कमजोर परिवार इधर-उधर से पानी का जुगाड़ करके जरूरतें पूरी करते हैं। परेशान ग्रामीण कई बार प्रशासन व जलदाय विभाग को समस्या से अवगत करवा चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई व समाधान नहीं कर रहा है। इससे आमजन में रोष है।

पेयजल आपूर्ति लड़खड़ाई - कस्बे में पेयजल आपूर्ति व्यवस्था पूरी तरह से लडख़ड़ाई हुई है। सात-आठ दिन से जलापूर्ति होती है। हर दिन पानी के लिए तरसना पड़ता है। - लेहरो देवी
सुनवाई नहीं हो रही- कस्बे में लंबे समय से पेयजल आपूर्ति व्यवस्था बिगड़ी हुई है। अधिकारी सुनवाई ना समाधान कर रहे हंै। इस पर बूंद-बूंद पानी को मोहताज हो गए हैं। - गीतादेवी सेवग

पेयजल व्यवस्था सुधारें-गर्मी की शुरुआत में ही पेयजल व्यवस्था बिगड़ी हुई है। भीषण गर्मी में इससे बुरे हाल होंगे, यही सोच घबराए हुए हंै। विभाग आपूर्ति व्यवस्था सुधारें। - पिंकीदेवी बुरड़

Dilip dave Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned