road accident - लड़की को ससुराल छोड़ लौट रहे लोगों से भरा पिकअप पलटा, 4 की मौत, 30 घायल

आदिवासी परिवारों से भरा भरा था लोडर वाहन
लड़की को ससुराल छोड़कर लौट रहे थे परिजन, तभी हुआ हादसा
विधायक ने अस्पताल पहुंच जाना हाल, मृतकों व घायलों को सहायता के लिए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

 

By: tarunendra chauhan

Updated: 29 May 2020, 08:40 PM IST

बड़वानी. जिले के पाटी क्षेत्र में शुक्रवार सुबह 9 बजे आदिवासियों से भरा पिकअप वाहन पलटने से चार लोगों की मौत हो गई और 30 लोग घायल हो गए। इनमें से गंभीर घायल 13 लोगों का जिला अस्पताल में उपचार चल रहा है। हादसा उस समय हुआ जब परिजन लड़की को ससुराल छोड़कर वापस घर आ रहे थे। दुर्घटना के बाद पाटी व बड़वानी अस्पताल में घायलों व परिजनों की भीड़ जमा हो गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार पिकअप वाहन में 35 से अधिक लोग सवार थे। एक ही परिवार के यह लोग ग्राम सेमली से अपनी बेटी को उसके ससुराल चैरवी छोडऩे गए थे। वहां से लौटते समय चैरवी व सेमलेट फाटे पर वाहन असंतुलित होकर पलट गया। हादसे के बाद मौके पर चीख-पुकार मच गई। दुर्घटना के बाद आसपास के ग्रामीणों ने पुलिस को सूचना दी। घायलों को 108 एंबुलेंस व डायल 100 की सहायता से पाटी अस्पताल लेकर पहुंचे। वाहन के नीचे दबने से दो लोगों की मौके पर मौत हो गई। वहीं एक व्यक्ति ने पाटी अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। सभी घायलों को पाटी अस्पताल लेकर पहुंचे। वहां से 13 गंभीर घायलों को 11.30 बजे बड़वानी जिला अस्पताल लाया गया। यहां उपचार के दौरान एक और व्यक्ति की मौत हो गई। बीएमओ डॉ. देवेंद्र वास्कले ने गंभीर घायलों को बड़वानी रैफर किया। शेष लोगों का पाटी में ही उपचार किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक डीआर तेनीवार ने बताया कि पाटी क्षेत्र में पिकअप वाहन पलटने से चार लोगों की मौत हो गई व 30 से अधिक के घायल हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

हादसे में इनकी हुई मौत
इस हादसे में प्रताप (22) पिता गमा निवासी सेमली, फदीया (26) पिता गोखलिया निवासी घुघसी की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं फत्तू (35)पिता नगरिया निवासी खरवड़ी फलिया सेमली ने पाटी अस्पताल में दम तोड़ा है। वहीं कैलाश (25) पिता जापसिंह की जिला अस्पताल में उपचार के दौरान मौत हो गई।

ओवरलोड था वाहन
जानकारी के अनुसार पिकअप वाहन में 35 से अधिक लोग सवार थे। बता दें कि लॉकडाउन के चलते बसों का संचालन बंद है। ऐसे में माल ढुलाई के लिए उपयोग आने वाले वाहनों में ग्रामीणजन आवाजाही करने से नहीं कतरा रहे हैं। साथ ही वाहनों में बड़ी संख्या में बैठकर आना-जाना कर रहे हैं, जो लॉकडाउन के नियमों का खुला उल्लंघन है। ऐसे वाहनों पर पुलिस भी कार्रवाई नहीं कर रही है।

चालक और मालिक के खिलाफ प्रकरण दर्ज
थाना प्रभारी ट्रेनी डीएसपी आदित्य राजसिंह का कहना है कि पुलिस को करीब 10 बजे घटना की सूचना मिली थी, जिसके बाद तत्काल मौके पर पहुंचकर घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया। वहीं मृतकों का पोस्टमार्टम कराकर शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं। इस हादसे में वाहन मालिक व चालक के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर जांच की जा रही है।

 

अस्पताल पहुंचे विधायक
क्षेत्रीय विधायक प्रेमसिंह पटेल शुक्रवार दोपहर 12 बजे जिला अस्पताल पहुंचे। यहां पाटी के घायलों का हाल जाना और परिजनों से चर्चा कर घटना की जानकारी ली। इस दौरान विधायक ने बताया कि इस घटना में मृतकों व घायलों की आर्थिक सहायता के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है।

ये हुए घायल
दुर्घटना में सारिका (11) पिता तुलसीराम, पिंकी (25) पिता बाकीराम, सावलिया बिल्लोर सिंह (20) ज्ञानी (15) पिता रूलसिंग, सपना (30) पिता वाहरिया, जेसली (22) पति सावलिया, रितेश (13) पिता सुकलाल, भगवान (30) पिता मवास्या, पप्पू (20)पिता नानसिग, रतकु (19) पिता पप्पु, सवलिया(15) पिता काशीराम, निमाली(20) पिता हिरमल, सपना (8) पिता भागवान, राहुल (18) पिता वाहरीया, सादिल (9) पिता बाकीराम, गुच्चा(25) पिता खतनिया, बाकीराम (30)पिता नानसिह, गोखरिया (34) पिता ओकलिया, चमली (9) पिता नानु, मसी (38 )पिता नानु , सहली (12) पिता पप्पु, रविना (6 ) पिता टेपा, टेपा (28) पिता नारिया, शांतिलाल (26) पिता चुन्नीलाल, दुर्गा (16) पिता प्रकाश, धुन्नु (12) पिता गुटसिह, सुरमा (8) पिता कोसराम, तेरसिह (15) पिता भुरसिंह, महेश (11) पिता रुलसिंह, सुबलिया (15) पिता पुनालाल सभी निवासी ग्राम सेमली के हैं।
बीडी 3054- घायलों के अस्पताल पहुंचने के बाद पहुंचे विधायक।

Show More
tarunendra chauhan Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned