कोरोना काल में घटा अपराधों का ग्राफ, हत्या और दुर्घटनाओं में आई कमी

लॉक डाउन के दौरान थाने पड़े रहे सूने, नहीं आए ज्यादा विवाद, बलात्कार के मामले भी हुए कम, महिला अपराधों में हुई बढ़ोतरी

By: vishal yadav

Published: 12 Jul 2020, 10:40 AM IST

बड़वानी. कोरोना काल में जहां सभी लोग परेशान हो रहे हैं, वहीं वातावरण में काफी सुधार देखने को मिल रहा है। इतना ही नहीं कोरोना संक्रमण काल में जिले में अपराधों का ग्राफ भी बहुत हद तक गिरा है। कोविड-19 के बाद हुए लॉक डाउन में जिलेभर के थाना क्षेत्रों में अपराधों में कमी हुई है। लॉक डाउन के दौरान तो कई थाने ऐसे थे, जहां सन्नाटा पसरा रहता था। उन दिनों में थानों में न कोई विवाद का प्रकरण आता था और ना ही चोरी की घटनाएं हुई। ऐसे में लॉक डाउन के दौरान जिले में शांति बनी रही। हालांकि कुछ मामले ऐसे हैं, जिनमें पिछले साल की तुलना में इस साल वृद्धि हुई है। हम पिछले साल 2019 में जून माह तक हुए अपराधों और दुर्घटनाओं और इस वर्ष 2020 में हुए अपराधों और दुर्घटनाओं पर नजर डालें तो इनमें काफी कमी आई है। वहंीं दुघटनाओं में मरने वालों की संख्या भी कम रही है।
हत्या के मामले हुए कम, महिला अपराध बढ़े
लॉक डाउन के बाद से अब तक जिले में पिछले साल की तुलना में देखें तो हत्या के मामले कम हुए हैं। पिछले साल जून माह तक जिले में 20 हत्या के प्रकरण दर्ज हो चुके थे। वहीं इस वर्ष अब तक 17 हत्याएं विभिन्न थाना क्षेत्रों में दर्ज हुई है। वहीं बलात्कार के मामलों को देखें तो ये पिछले साल जून माह तक 44 दर्ज हुए थे, जो इस साल घटकर 57 रहे हैं। हालांकि इस साल महिला संबंधी अपराधों का ग्राफ बढ़ा है। विगत वर्ष 226 महिलाओं अपराध विभिन्न थाना में दर्ज हुए थे जो इस साल बढ़कर 267 पर पहुंच गए हैं। वहीं वाहन चोरी और सामान्य चोरीमें भी कमी देखी गई है। पिछले साल वाहन चोरी के 89 व सामान्य चोरी के 24 केस हुए थे। वहींइस वर्ष वाहन चोरी 60 और सामान्य चोरी 13 हुई है।
दुर्घटनाओं का गिरा ग्राफ, कम हुई मौतें
इस साल हुए लॉक डाउन का एक ये फायदा भी देखने को मिला कि जिलेभर में दुर्घटनाओं का ग्राफ गिरा है। वहीं इन दुर्घटनाओं में मरने वालों की संख्या भी कम हुई है। लॉक डाउन के दौरान वाहनों संचालन पूरी तरह से बंद था। उसी के चलते लोग कहीं आ-जा नहीं सके। इसी को लेकर दुर्घटनाएं कम हुई हैं। पिछले साल हुए दुर्घटनाओं के आंकड़ों पर नजर डालें तो जिले में 435 दुर्घटनाओं में 126 लोगों की मौत हुई थी। वहीं लॉक डाउन होने से इस साल ये दुर्घटनाओं का आंकड़ा घटकर 378 ही रहा और इनमें 105 लोगों की मौत हुई है।
ऐसे रहा अपराधों का ग्राफ
प्रकरण -2019 - 2020
हत्या -20 - 17
बलात्कार -44 - 37
महिला अपराध -226 - 267
वाहन चोरी -89 - 60
सामान्य चोरी -24 - 13
आम्र्स एक्ट -68 - 42
बलवा -11 - 13
लूट -1 - 3
डकैती -2 - 0
आबकारी -1220 - 965
दुर्घटनाएं -435 - 378
दुर्घटनाओं में मौत- 126 - 105
वर्जन...
अपराधों को रोकने के लिए पूरा प्रयास किया जाएगा। अपराधों पर अंकुश लगाने के लिए सख्ती से निपटा जाएगा। कोई भी अपराधी पुलिस से बच नहीं पाएगा।
-निमिष अग्रवाल, पुलिस अधीक्षक बड़वानी

vishal yadav Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned