Winter season : सर्दी-जुकाम, बुखार कोविड काल में अधिक खतरनाक

सर्दी बढ़ते ही मौसमी बीमारियों का प्रकोप शुरू, रोगियों की हर दिन बढ़ रही संख्या

By: Gourishankar Jodha

Updated: 05 Jan 2021, 02:02 PM IST

प्रागपुरा। सर्दी बढ़ते ही मौसमी बीमारियों का प्रकोप शुरू हो गया है। इन दिनों सीएचसी पावटा में बुखार, सर्दी-जुकाम, खांसी के मरीज इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। एक सप्ताह से पावटा कस्बे में सरकारी एवं निजी अस्पतालों में भी वायरल फीवर के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। चिकित्सकों की माने तो ठंड के मौसम में सर्दी, जुकाम व बुखार का होना आम बात है, लेकिन कोविड के इस काल में यह काफी अधिक खतरनाक हो सकता है।
पावटा सीएचसी में सोमवार को करीब 12.15 बजे तक 450 ओपीडी दर्ज की गई। पावटा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र वरिष्ठ डॉ. एसके वर्मा, डॉ.अशोक कुमार ने बताया कि ठंड के मौसम में सर्दी, जुकाम व बुखार का होना आम बात है, लेकिन कोविड के इस काल में यह काफी अधिक खतरनाक हो सकता है। उनका कहना है कि वायरल फीवर होते ही उसकी जांच कराना जरूरी है।

इन बातों का रखे ध्यान
अधिकांश लोग खांसी, जुकाम व बुखार होने पर इलाज के लिए अस्पताल आने के बजाए घर पर ही दवा खा रहे हैं। इससे खतरा बढ़ सकता है। कहा कि हर खांसी बुखार या जुकाम कोरोना संक्रमण नहीं होता, लेकिन उसमें कोरोना की संभावना बनी रहती है। कोरोना के आरंभिक स्टेज पर इलाज शुरू हो गया तो इस बीमारी को हराया जा सकता है। उन्होंने ठंड से बचाव करने, उबला हुआ पानी पीने, काढ़े का अधिक से अधिक सेवन करने, घर में व्यायाम, योग आदि करने की अपील की है। उन्होंने बताया कि अधिकांश रोगी बुखार, खांसी, सिर दर्द, पेट दर्द के आ रहे हैं।

Gourishankar Jodha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned