बिना इजाज़त धरने बैठे कांग्रेस जिलाध्यक्ष पर दर्ज हुआ एफआईआर

20 मई को मज़दूरों के लिये उपलब्ध करायी गयी बसें चलाने और अजय लल्लू की गिरफ्तारी के विरोध में दिया था धरना।

बस्ती. लॉक डाउन में धरने पर बैठ गए और वो भी बिना इजाज़त, यूपी के बस्ती ज़िले कांग्रेस जिलाध्यक्ष को ऐसा करना महंगा पड़ा। पुलिस ने उनके खिलाफ लॉक डाउन के उल्लंघन मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मुकदम दर्ज होने के बाद बस्ती कॉंग्रेस जिलाध्यक्ष अंकुर वर्मा ने कहा है कि ने कहा है कि मुकदमा दर्ज होने के बावजूद वो गरीब और मज़दूरों की आवाज़ उठाते रहेंगे। जनता के हित के लिये जेल भी जाना पड़े तो पीछे नहीं हटेंगे।

 

प्रवासी मज़दूरों की घर वापसी के लिए प्रियंका गांधी के कॉंग्रेस की ओर से 1000 बस उपलब्ध कराए जाने वाले मामले को लेकर हुए घटे घटनाक्रम में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी हो गई। कांग्रेस की तरफ उपलब्ध करायी गई बसों को चलाने की अनुमति देने और हिरासत में लिए गए कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू को बिना शर्त रिहा किए जाने की मांग को लेकर कांग्रेस जिलाध्यक्ष अंकुर वर्मा ने 20 मई को बस्ती में रोडवेज स्थित शहीद भगत सिंह प्रतिमा पर सांकेतिक धरना दिया था।

 

इसी के बाद बिना इजाज़त धरना देने के आरोप में एसआई मोतीलाल की तहरीर पर जिलाध्यक्ष और उनके सहयोगियों के ख़िलाफ़ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

Congress coronavirus
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned