चेहरे की चमक और त्वचा रोग के लिए जानें चिरौंजी और सोयबीन के फायदे

चेहरे की चमक और त्वचा रोग के लिए जानें चिरौंजी और सोयबीन के फायदे

Vikas Gupta | Publish: Feb, 28 2019 04:25:18 PM (IST) सौंदर्य

सोयाबीन के प्रयोग से कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता जिससे हृदय स्वस्थ रहता है। पांच से दस ग्राम चिरौंजी में मिश्री मिलाकर दूध के साथ लेने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है।

घर में मेवे के रूप में प्रयोग होने वाली चिरौंजी सिर्फ पकवानों को ही स्वादिष्ट बनाने का काम नहीं करती बल्कि कई अन्य मामलों में भी लाभकारी है।

पांच से दस ग्राम चिरौंजी में मिश्री मिलाकर दूध के साथ लेने से शारीरिक कमजोरी दूर होती है।
इसे पीसकर गुलाबजल में मिलाकर चेहरे पर लगाएं व सूखने पर सामान्य पानी से धो लें। इससे चेहरे पर चमक आती है।
5 से 10 ग्राम चिरौंजी को नारियल की गिरी के साथ सेंक लें। इसे पीसकर एक कप दूध के साथ उबालें व आधा चम्मच इलाइची पाउडर व थोड़ी शक्कर मिलाकर पिएं। इससे खांसी व जुकाम में आराम मिलता है। शरीर पर फुंसी होने पर इसे पीसकर दूध में मिलाकर लगाने से काफी आराम मिलता है।

त्वचा रोगों में खाएं सोयाबीन -
सोयाबीन का इस्तेमाल प्रोटीन के रूप में कई बीमारियों में किया जा रहा है। इसमें प्रोटीन, वसा, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन-ए, बी, डी व ई जैसे तत्व होते हैं।
सोयाबीन के प्रयोग से कोलेस्ट्रॉल नहीं बढ़ता जिससे हृदय स्वस्थ रहता है।
खून की कमी होने पर सोयाबीन खाना फायदेमंद होता है।
दिमाग की कमजोरी, तनाव और चिड़चिड़ापन होने पर सोयाबीन लाभकारी होती है जो याददाश्त बढ़ाने का भी काम करती है।
सोयाबीन में ब्लड साफ करने का गुण होता है जो त्वचा रोगों को दूर करती है। यह बढ़े हुए यूरिक एसिड को भी कम करने का काम करती है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned