पोल शिफ्टिंग में बजट का रोड़ा

पोल शिफ्टिंग में बजट का रोड़ा

Tarun singh Kashyap | Publish: May, 18 2018 03:56:03 PM (IST) Beawar, Rajasthan, India

पत्रिका ग्राउंड रिपोर्ट : सतपुलिया विस्तारीकरण व गौरव पथ का मामला, निगम ने करीब 65 लाख का किया तकमीना तैयार

ब्यावर. गौरव पथ एवं सतपुलिया विस्तारीकरण के काम को पूरा करने में फांस बना विद्युत पोल शिफ्टिंग का मामला करीब एक साल बाद भी बजट के चलते अधरझूल में है। इस एक साल के दरियान पोल शिफ्टिंग को लेकर नए नए तरीके निकाल कर प्रयास किए गए। हर बार बजट की फांस इसमें बाधक बनी। सार्वजनिक निर्माण विभाग ने अपने स्तर पर पोल शिफ्टिंग करवाने को लेकर सुपरविजन डिमांड नोट मांगा। निगम की ओर से पांच लाख का सुपरविजन डिमांड नोट दे दिया गया। यहां पर सार्वजनिक निर्माण विभाग के प्रयास विफल हो गए। आखिर में अब एक बार फिर से करीब 6 5 लाख का डिमांड नोट तैयार किया गया है। अब तक भी बजट को लेकर रार बरकरार है। हालांकि सार्वजनिक निर्माण विभाग ने सतपुलिया विस्तारीकरण का काम शुरु कर दिया है। अजमेर रोड बाइपास पर गौरव पथ का काम शुरु होने के साथ ही पोल शिफ्टिंग की जदोजहद शुरु हुई। गौरव पथ का लगभग काम पूरा हो गया लेकिन पोल शिफ्टिंग का काम अब तक पूरा नहीं हो सका है। हालांकि गौरव पथ निर्माण में रही कमियों को दुरुस्त करने के लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग ने संबंधित फर्म को पत्र लिखा है।
अगले सप्ताह होगा निर्णय
अजमेर रोड पर गौरव पथ व सतपुलिया विस्तारीकरण की जद में 8 8 पेड आ रहे है। इसमें गौरव पथ की जद में आने वाले 16 पेड शामिल है। गौरव पथ का काम पूरा हो गया लेकिन अब तक पेड काटे जा सके है। अगले सप्ताह बुधवार को पेड़ को काटने को लेकर समिति के समक्ष निर्णय होना है। हालांकि इस मामले में काटने की अनुमति मिल गई एवं तिथि तय हो गई। वापस पेड़ लगाने को लेकर अब तक कोई निर्णय नहीं किया जा सका है।
इनका कहना है...
सतपुलिया से अजमेर रोड बाइपास तक विद्युत पोल शिफ्टिंग का डिमांड नोट तैयार कर दिया गया है। एक-दो दिन में सार्वजनिक निर्माण विभाग को भिजवा दिया जाएगा।
-दिनेशसिंह, अधिशाषी अभियंता, विद्युत निगम
विद्युत निगम की ओर से अब तक तकमीना नहीं मिला है। तकमीना मिलने पर आगे की र्कारवई की जाएगी।फिलहाल सतपुलिया विस्तारीकरण का काम चल रहा है। इस काम को बरसात से पहले पूरा करने का प्रयास रहेगा।
-ओ.पी.चौहान, अधिशाषी अभियंता, सार्वजनिक निर्माण विभाग

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned